बंगाल में बोले PM मोदी, मां-माटी-मानुष की बात करने वाले बंगाल के विकास के सामने दीवार बनकर खड़े हैं

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज पश्चिम बंगाल के हुगली में एक जनसभा को सम्बोधित करते हुए सूबे की ममता बनर्जी सरकार पर जमकर निशाना साधा। पीएम ने कहा, मां-माटी-मानुष की बात करने वाले लोग बंगाल के विकास के सामने दीवार बनकर खड़े हो गए हैं। केंद्र सरकार किसानों और गरीबों के हक का पैसा सीधे उनके बैंक खाते में जमा करती है जबकि बंगाल सरकार की योजनाओं का पैसा TMC के टोलाबाजों के सहमति के बिना गरीब तक पहुंच ही नहीं पाता। यही वजह है कि गांव-गांव में TMC नेताओं की शान बढ़ती जा रही और सामान्य परिवार गरीब से गरीब होता जा रहा है। बंगाल के लाखों किसान परिवारों को पीएम किसान सम्मान निधि का पैसा इसी मानसिकता के कारण नहीं मिल पाया है। उनके हक को यहां की सरकार में बैठे हुए लोगों ने छीन लिया है.

प्रधानमंत्री ने कहा कि मुझे हैरानी है इतने वर्षों में जितनी भी सरकारें पश्चिम बंगाल में रहीं, उन्होंने इस ऐतिहासिक क्षेत्र को अपने ही हाल में छोड़ दिया। यहां के इंफ्रास्ट्रक्चर को, यहां की धरोहर को बेहाल होने दिया गया। वंदे मातरम भवन जहां बंकिमचंद जी 5 साल रहे, कहते हैं वो तो बहुत बुरे हाल में है..भाजपा उस सोनार बांग्ला के निर्माण के लिए काम करेगी, जिसमें यहां का इतिहास, यहां की संस्कृति दिनों दिन और मजबूत होगी। ऐसा बंगाल, जहां आस्था, आध्यात्म और उद्यम, सबका सम्मान होगा। हर घर जल पहुंचाने के लिए केंद्र सरकार ने 1700 करोड़ रुपए से ज़्यादा टीएमसी सरकार को दिए। लेकिन इसमें से सिर्फ 609 करोड़ रुपए ही यहां की सरकार ने खर्च किया है।