पेट्रोल की कीमत बढ़ने के बाद हरकत में आई मोदी सरकार, वित्तमंत्री ने बताया कब कम होगी कीमत

पिछले कुछ दिनों में पेट्रोल की कीमतों में बेतहाशा वृद्धि हुई है, जिससे लोगों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है, महंगे पेट्रोल की कीमत को कंट्रोल करने के लिए केंद्र की मोदी सरकार अब हरकत में आ गई है…केंद्रीय वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि यह अफसोसनाक मुद्दा है और कीमतें में कमी के अलावा कोई भी जवाब लोगों को संतुष्ट नहीं कर सकता। केंद्र और राज्य दोनों को उपभोक्ताओं के लिए उचित स्तर पर खुदरा ईंधन मूल्य में कमी लाने के लिए बात करनी चाहिए।

चेन्नई में वित्त मंत्री ने कहा कि OPEC देशों ने उत्पादन का जो अनुमान लगाया था, वह भी नीचे आने की संभावना है जो फिर से चिंता बढ़ा रहा है। तेल के दाम पर सरकार का नियंत्रण नहीं है। इसे तकनीकी तौर पर मुक्त कर दिया गया है तेल कंपनियां कच्चा तेल आयात करती हैं, रिफाइन करती हैं और बेचती हैं।

इससे पहले पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद प्रधान ने कहा था कि अंतरराष्ट्रीय बाजार में तेल की बढ़ती कीमतों की वजह से आर्थिक रिकवरी और डिमांड पर बुरा असर पड़ रहा है. पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान का कहना है कि कम से कम अगले कुछ महीनों के लिए तेल कीमतों से ज्यादा प्राथमिकता डिमांड रिकवरी को दी जानी चाहिए।