ममता के मंत्री फिरहाद हाकिम का मस्जिद के भीतर से ऐलान, अगर जीते तो मौलाना-मौलवियों का भत्ता बढ़ाएंगे

वैसे तो विपक्षी पार्टियां भाजपा पर हिन्दू-मुस्लिम करने का आरोप लगाती हैं, लेकिन सबसे ज्यादा तुष्टिकरण की राजनीति तथाकथित सेकुलरिज्म का चोला ओढ़े पार्टियां ही करती हैं, पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनाव की तारीखों का ऐलान हो गया और प्रदेश में आचार संहिता लग गई..आचार संहिता की धज्जियां उड़ाते हुए ममता बनर्जी के मंत्री मस्जिद में गए भीतर से ऐलान किया कि अगर हम जीते तो मौलाना मौलवियों का भत्ता बढ़ाएंगे।

जानकारी के अनुसार, टीएमसी नेता और ममता सरकार के सबसे ताकतवर मंत्री फिरहाद हाकिम चुनाव आचार संहिता लगने के बाद कोलकाता के हेस्टिंग्स इलाके की लश्कर लेन मस्जिद में गए और भड़काऊ भाषण दिया, साथ ही मौलाना-मौलवियों का भत्ता बढ़ाने का ऑफर दिया। मस्जिद के भीतर भड़काऊ बयान देते हुए उन्होंने कहा, गुजरात मे 2000 लोगों का कत्ल करने वालों को बंगाल आने से रोको। ममता के मंत्री के इस भड़काऊ बयान के बाद भाजपा ने चुनाव आयोग जाने का फैसला किया है.

भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने कहा, आचार संहिता का उल्लंघन है, हम चुनाव आयोग से इसकी शिकायत करेंगे। ये तुष्टिकरण की राजनीति को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।

loading...