सचिन तेंदुलकर और लता मंगेशकर के समर्थन में उतरी सांसद नवनीत राणा, उद्धव सरकार को लिया आड़े हाथों

विदेशी पॉप स्टार रिहाना, एक्टिविस्ट ग्रेटा थनबर्ग और पोर्न स्टार मिया खलीफा ने दिल्ली में चल रहे किसान आंदोलन को लेकर ट्वीट किया, इसके बाद भारत की भी जानी-मानी हस्तियों ने इन्हें जवाब दिया। अब इसको लेकर महाराष्ट्र की उद्धव ठाकरे सरकार ने जांच के आदेश दिए हैं.

महाराष्ट्र सरकार ने इन सेलिब्रिटीज द्वारा ट्वीट्स किए जाने को लेकर जांच के आदेश दिए हैं। मालूम हो कि बॉलीवुड एक्टर अक्षय कुमार, अजय देवगन, लता मंगेशकर, क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर समेत कई हस्तियों ने ट्वीट्स किए थे। इन ट्वीट्स में उन्होंने इंडिया टुगेदर और इंडिया अगेंस्ट प्रोपेगैंडा के हैशटैग भी लगाए थे। बता दें कि सचिन तेंदुलकर और लता मंगेशकर को ‘भारत रत्न’ के सम्मान से भी नवाजा जा चुका है।

देश के महान हस्ती सचिन तेंदुलकर, लता मंगेशकर, विराट कोहली सहित अन्य सितारों द्वारा किए गए ट्वीट को लेकर हो रहे हंगामे पर सांसद नवनीत राणा ने जमकर हमला बोला है। महाराष्ट्र के अमरावती से सांसद नवनीत राणा ने कहा कि किसी को राष्ट्रीय नायकों को साबित करने की ज़रूरत नहीं है कि वे राष्ट्र के पक्ष में हैं या इसके खिलाफ। यह एक लोकतंत्र है, हम जब चाहें खुद को अभिव्यक्त कर सकते हैं। अगर कोई किसी ट्वीट के आधार पर इन सितारों को जज कर रहा है, तो वे भारत विरोधी हैं।

आपको बता दें कि महाराष्ट्र सरकार ने इन ट्वीट्स के खिलाफ इंटेलिजेंस विभाग को जांच करने के लिए कहा है। इन ट्वीट्स की शिकायत कांग्रेस ने की थी और आरोप लगाया था कि ज्यादातर ट्वीट्स का एक ही पैटर्न था। राज्य के गृह मंत्री अनिल देशमुख ने कांग्रेस के डेलिगेशन को यह आश्वासन दिया कि महाराष्ट्र पुलिस का इंटेलिजेंस विभाग भारतीय हस्तियों के ट्वीट्स की जांच करेगा और पता करेगा कि क्या इस तरह के ट्वीट के लिए बीजेपी ने कोई दबाव डाला था।