अपनी प्राइवेट चैट लीक करने से रोकने के लिए दिशा रवि ने खटखटाया हाईकोर्ट का दरवाजा

टूलकिट मामले में गिरफ्तार दिशा रवि ने अपनी प्राइवेट चैट लीक करने से रोकने के लिए दिल्ली हाईकोर्ट का रुख किया है। दिशा रवि ने दिल्ली पुलिस को निर्देश देने की मांग की है कि उसकी प्राइवेट चैट्स मीडिया सहित किसी को भी लीक न की जाए। रवि के वकील अभिनव सेखरी ने कहा कि वह याचिका को उच्च न्यायालय में सुनवाई के लिए सूचीबद्ध किए जाने का इंतजार कर रहे हैं और इसके बाद ही इस पर कोई टिप्पणी करेंगे।

याचिका में मीडिया को उनके और तीसरे पक्ष के बीच व्हाट्सऐप पर मौजूद किसी भी कथित निजी वार्तालाप की सामग्री या अन्य चीजें प्रकाशित करने से रोकने का भी अनुरोध किया गया है।

आपको बता दें कि ग्रेटा थनबर्ग द्वारा साझा किए गए किसानों के आंदोलन का समर्थन करने वाले ‘टूलकिट गूगल दस्तावेज’ की जांच कर रही दिल्ली पुलिस ने बेंगलुरु की कार्यकर्ता दिशा रवि को गिरफ्तार किया है, जबकि मुम्बई की वकील जैकब और पुणे के इंजीनियर शांतनु मुलुक को अदालत ने अग्रिम जमानत दे दी है। इससे पहले दिल्ली पुलिस आयुक्त एस. एन. श्रीवास्तव ने कहा था कि जलवायु कार्यकर्ता दिशा रवि की गिरफ्तारी कानून के अनुरूप की गई है, जो ‘‘ 22 से 50 वर्षीय की आयु के लोगों के बीच कोई भेदभाव नहीं करता। मालूम हो कि बहुत सारे बुद्धिजीवी दिशा की गिरफ़्तारी का सिर्फ इसलिए विरोध कर रहे थे क्योंकि वह 22 साल की हैं।