प्रतापगढ़: दिलशाद ने की 10 वर्षीय मासूम दीपक की क्रूरतम ह्त्या, तबतक पानी में डुबाये रखा जब तक सांसे चलती रही

उतर प्रदेश के प्रतापगढ़ जिले से एक दिल दहला देने वाली घटना सामने आयी है, जी हाँ, अपने साथियों संग मिलकर दिलशाद ने 10 वर्षीय मासूम दीपक की क्रूरतम ह्त्या कर दी, ये पूरा मामला प्रतापगढ़ शहर में सरोज तिराहे के पास काशीराम कालोनी का है। पुलिस अधीक्षक शिवहरि मीना ने मीडिया को बताया कि दीपक की हत्या दिलशाद ने नाले के पानी में डुबोकर किया था। इस मामले में तीन आरोपियों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया है। दीपक के हत्यारोपी दिलशाद के अलावा इस मामलें में अजमल और एजाज की भी गिरफ्तारी हुयी है।

एसपी ने बताया कि वादी की तहरीर के आधार पर नामजद अभियुक्तों को हिरासत में लेकर पूछतांछ की गयी तो उन्होंने बताया कि मेरे भाई इरशाद उम्र 07 वर्ष और दीपक दोनों, दीपक के घर के बाहर खेल रहे थे। खेल-खेल में ही इरशाद ने एक पत्थर मारा जिससे दीपक के घर का शीशा टूट गया। पत्थर मारने पर दीपक के पिता अशर्फी नाराज हो गये और दो थप्पड़ इरशाद को मार दिया। इसके बाद इरशाद को पकड़कर उसके घर लाये। इरशाद की मां ने भी इरशाद को मारा तथा 200/-रुपये भी अशर्फी लाल को दिया कि शीशा लगवा लेना। अशर्फी उसके घर पर गाली-गलौज करके अपने घर चला गया।

दिलशाद व अजमल कहीं जा रहे थे तभी इन्हें दीपक झाड़ी में बेर खाते हुए दिखा। दिलशाद ने अपने मामा सिकन्दर को फोन लगाया और कहा कि मामा आ जाओ, तब सिकन्दर वहां आ गया। झाड़ी के पास बेर खा रहे दीपक को दिलशाद ने दो थप्पड़ मारा तो वह ईट पर गिर गया, जिससे उसको चोट आयी और वह दिलशाद को गाली देने लगा। इस पर दिलशाद ने दीपक की गर्दन पकड़कर पानी में डूबो दिया और तब तक डूबाये रहा जब तक की उसकी मृत्यु नहीं हो गयी। इसकी पुष्टि पोस्टमार्टम रिपोर्ट में भी हुई है।

घटना के समय सिकन्दर के द्वारा ही इनको बताया गया कि आप लोग इस घटना को स्वीकार न करना और आप लोग कहीं मत भागना, जिससे पुलिस को किसी तरह का कोई शक न हो सके। विवेचना के क्रम में प्रकाश में आये तीसरे अभियुक्त एजाज उर्फ सिकन्दर को थाना क्षेत्र के सगरा ढलान के पास से 21 फरवरी को सुबह के समय लगभग 10:25 बजे गिरफ्तार किया गया।