क्राइम ब्रांच करेगी रिंकू शर्मा हत्याकांड की जांच, इस्लाम, दानिश और नसीरुद्दीन समेत 5 आरोपी गिरफ्तार हैं

दिल्ली के मंगोलपुरी में बुधवार को रामभक्त रिंकू शर्मा की बेरहमी से ह्त्या कर दी गई, दरिंदों ने 26 वर्षीय रिंकू शर्मा की चाक़ू घोंपकर ह्त्या कर दी, रिंकू बजरंग दल का कार्यकर्ता भी थे, वे अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लिए चलाए जा रहे धन संग्रह अभियान में सक्रिय थे। इस मामले में पुलिस ने पांच आरोपितों को गिरफ्तार किया है। इनकी पहचान मोहम्मद इस्लाम, दानिश, नसीरुद्दीन, दिलशान और दिलशाद और ताजुद्दीन के तौर पर हुई है। वारदात के इलाके में तनाव बना हुआ है।

रिंकू शर्मा हत्याकांड की जांच अब दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच को सौंपी गई है, दिल्ली पुलिस ने बताया कि मामले की जांच क्राइम ब्रांच को ट्रांसफर कर दी गई है। क्राइम ब्रांच अब यह पता चलाएगी कि रिंकू की ह्त्या किस कारण हुई, मृतक रिंकू के परिवार का आरोप है कि राम मंदिर के लिए चंदा मांगने की वजह से रिंकू का दूसरे समुदाय से विवाद हुआ, यही ह्त्या का कारण बना. वहीँ दिल्ली पुलिस की थ्योरी इसके विपरीत है.

दिल्ली पुलिस के मुताबिक, रिंकू शर्मा पर 10 फरवरी की रात जन्मदिन की पार्टी में चाकू से हमला हुआ था। इसके बाद उसे अस्पताल ले जाया गया, जहां उसकी मौत हो गई। हालाँकि अब जांच क्राइम ब्रांच को सौंपी गई है, जल्द ही दूध का दूध और पानी का पानी हो जाएगा।

आपको बता दें कि रिंकू शर्मा ने मानवता के नाते जिस इस्लाम की बीबी को अस्पताल में दो बार खून दिया था,रिंकू की ह्त्या में वो मोहम्मद इस्लाम भी शामिल था, रिंकू अपने परिवार में अकेले कमाने वाले सख्श थे, उनकी ह्त्या से परिजनों पर दुखों का पहाड़ टूट पड़ा है, रिंकू के माता-पिता और भाई समेत परिवार के सभी सदस्यों का रो-रोकर बुराहाल है, अभी तक दिल्ली की अरविन्द केजरीवाल सरकार की ओर से रिंकू के परिजनों की आर्थिक मदद का कोई ऐलान नहीं किया गया है।