सुरजेवाला ने की बजट की आलोचना, कहा- इस बजट का सार है ‘धोखा’

केंद्रीय वित्तमंत्री वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने आज मोदी सरकार 2.0 और अपने कार्यकाल का तीसरा आम बजट पेश किया, वित्त मंत्री ने अपने बजट में गांव, गरीब और किसानों के साथ-साथ युवाओं के लिए भी कई योजनाओं की घोषणा की…बजट पेश होने के बाद मोदी सरकार ने बजट की तारीफ करते हुए अर्थव्यस्था को मजबूत करने वाला बताया तो वहीँ विपक्ष ने बजट की आलोचना की. सुरजेवाला ने कहा कि बजट का सार धोखा है.

कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने बजट की आलोचना करते हुए कहा कि इस बजट का सार है ‘धोखा’। यह धोखेबाज बजट है। केंद्र सरकार ने रक्षा बजट नहीं बढ़ाया। जिस प्रकार से राजकोषीय और वित्तीय घाटा लगभग 9.5-10% तक पहुंच गया है, यह निवेशक और अर्थव्यवस्था के लिए खतरे की बड़ी घंटी है.

आरजेडी नेता तेजस्वी यादव ने कहा कि यह बजट देश निर्माण के लिए नहीं था बल्कि देश बेचने के लिए था। आप जानते हैं कि कई संस्थानों की संपत्तियों को बेचा गया। जितनी संपत्तियां बची है उसे निजी क्षेत्र को देने की तैयारियां चल रही है। आम नागरिकों की कमर तोड दी गई। चंद लोगों का ख्याल इस बजट में रखा गया है.

आप नेता मनीष सिसोदिया ने कहा, बजट में केंद्र सरकार ने दिल्ली के साथ धोखा किया है। दिल्ली को सिर्फ 325 करोड़ रुपये दिए हैं। दिल्ली को पिछले 17 सालों से केंद्र सरकार 325 करोड़ रुपये देती आई हैं। एक रुपये भी नहीं बढ़ाया। उम्मीद थी कोरोना काल में पैसा बढ़ाकर दिया जाएगा।