CM योगी की राह पर चले CM खट्टर, आंदोलन में हुए नुकसान की भरपाई के लिए लाएंगे ‘वसूली कानून’

उत्तर प्रदेश में जो भी उपद्रव करता है, सार्वजनिक सम्पत्ति को नुकसान पहुंचाता है, उससे ही वसूली करके नुकसान की भरपाई की जाती है. योगी सरकार के इस मॉडल की चर्चा विश्वविख्यात है, अब इसी राह पर हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर भी चलने वाले हैं…भाजपा के वरिष्ठ नेता और हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने शनिवार ( 13 फरवरी, 2021 ) को केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह से मुलाक़ात की, ये मुलाक़ात ऐसे समय में हुई जब दिल्ली की विभिन्न सीमाओं पर किसान आंदोलन चल रहे हैं पिछले लगभग ढाई महीनें से.

अमित शाह से मुलाकात ककरने के बाद मीडिया से बात करते हुए मुख्यमंत्री खट्टर ने कहा कि किसान आंदोलन पर भी चर्चा हई. उन्होंने कहा कि किसी को भी सार्वजनिक संपत्ति का नुकसान करने का अधिकार नहीं है, हम इससे संबंधित क़ानून लेकर आ रहे हैं. मनोहरलाल खट्टर ने बताया कि जो भी आंदोलनकारी भविष्य में पब्लिक प्रॉपर्टी को नुकसान पहुँचाएगा, वही उसकी भरपाई करेगा। इसके लिए विधानसभा के सत्र में कानून लेकर आएँगे। मंत्रिमंडल विस्तार पर मुख्यमंत्री ने कहा कि जब भी मंत्रिमंडल विस्तार होगा उसकी जानकारी दे दी जाएगी।

बता दें कि हरियाणा में बीजेपी और जेजेपी के गठबंधन की सरकार है…आंदोलन कर रहे किसान भाजपा सरकार को गिराने के लिए दुष्यंत चौटाला पर इस्तीफे का दबाव बना रहे हैं…हालाँकि दुष्यंत ने पहले ही स्पष्ट कर दिया है कि कृषि कानून से किसानों का अहित नहीं होने वाला है, यानि इस्तीफे का कोई चांस ही नहीं है।