महाराष्ट्र: स्वास्थ्यकर्मियों की लापरवाही, पोलियो की जगह 12 बच्चों को पिलाया सैनिटाइजर, अस्पताल में एडमिट

प्रतीकात्मक चित्र - साभार the indian express

महाराष्ट्र में स्वास्थ्यकर्मियों की बड़ी लापरवाही सामने आई है, जिससे दर्जनों बच्चों के प्राण पर संकट आन पड़ा है, जी हाँ! गांव में पोलियो ड्राप पिलाने गए स्वास्थ्यकर्मियों ने दर्जनों बच्चों को पोलियो की जगह सेनेटाइजर पिला दिया। सेनेटाइजर पीने से बच्चों की तबियत बिगड़ गई है, उन्हें ईलाज के लिए अस्पताल में एडमिट कराया गया है…ये मामला महाराष्ट्र में यवतमाल जिले के एक गांव का है. यह जानकारी वरिष्ठ पत्रकार व् दैनिक भास्कर की नेशनल एडिटर एलपी पंत ने ट्वीट कर दी है।

जानकारी के अनुसार, स्वास्थ्य कर्मियों ने पोलियो ड्रॉप की जगह 12 बच्चों को सैनिटाइजर के ड्रॉप पिला दिए…बच्चों की उम्र पांच साल से कम है। तबियत बिगड़ने पर बच्चों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है.. मालूम हो कि पोलियो सिर्फ पांच साल से कम बच्चों को पिलाई जाती है.

सेनेटाइजर में एल्कॉहल मिला होता है, कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव के लिए सैनिटाइजर के उपयोग की सलाह हेल्थ एक्सपर्ट्स की तरफ से दी जा रही, जानकारी के अनुसार, सेनेटाइजर में अल्कोहल की मात्रा 70 से 80 प्रतिशत है…ऐसे में अगर पांच साल से कम बच्चों को पिला दिया जाय तो सोंचिये क्या होगा। जो सकता है स्वास्थकर्मियों ने और बच्चों को भी पोलियो की जगह सेनेटाइजर पिलाया हो…ये मामला बहुत गंभीर है, इसकी जाँच कर लापरवाह स्वास्थकर्मियों पर कार्यवाही की जानी चाहिए, ताकि दोबारा से कोई भी स्वास्थ्यकर्मी ऐसी लापरवाही न कर सके.

loading...