FIR दर्ज होने के बाद किसान आंदोलन छोड़कर फरार हुए योगेंद्र यादव समेत कई नेता, सता रहा गिरफ़्तारी का डर

कृषि कानून के विरोध में गणतंत्र दिवस पर किसान के वेश में छुपे दंगाइयों ने ट्रैक्टर परेड की आड़ में दिल्ली में जमकर आतंक मचाया, दंगाइयों ने लालकिले पर जबरन कब्जा कर लिया और अपना झंडा फहरा दिया, यही नहीं पूरी दिल्ली में जमकर आतंक मचाया, अब दिल्ली पुलिस एक्शन मोड़ में आ गई है और इसी कड़ी में योगेंद्र यादव पर एफआईआर दर्ज हो गई है.

सूत्रों के हवाले से खबर मिल रही है कि FIR फर्ज होने के बाद योगेंद्र यादव समेत कई नेता किसान आंदोलन छोड़कर फरार हो गए हैं, इन लोगों को गिरफ़्तारी का डर सत्ता रहा है, अब ये लोग भागकर कहाँ गए हैं इसकी जानकारी अभी सामने नहीं आ पाई है…बताया जा रहा है कि जिन-जिन किसान नेताओं पर एफआईआर दर्ज है दिल्ली पुलिस उन्हें कभी भी गिरफ्तार कर सकती है, गिरफ़्तारी के डर से ही योगेंद्र यादव किसान आंदोलन छोड़कर फरार हुए हैं..ऐसा सूत्र बता रहे हैं.

दिल्ली में हुई हिंसा मामलें में योगेंद्र यादव समेत कई नेताओं पर एफआईआर दर्ज हुई है, हिंसक किसान आंदोलन को लीड करने वालों में योगेंद्र यादव भी एक थे, योगेंद्र यादव पर NOC तोड़ने का आरोप है…जानकारी के अनुसार, योगेंद्र यादव, राकेश टिकैत, दर्शनपाल और गुरनाम चढूनी पर FIR दर्ज हुई है, दिल्ली हिंसा में अबतक 22 FIR दर्ज हो चुकी है.

आपको बात दें कि जब दिल्ली पुलिस ने ट्रैक्टर रैली की इजाजत नहीं दी थी तो योगेंद्र यादव बार-बार कहते थे क्या? किसानों को शांतिपूर्ण प्रदर्शन करने का हक़ नहीं है, अब जब इजाजत मिल गई और हिंसा भी हुई तो जवाबदेही किसी न किसी की तय होगी ही. और योगेंद्र यादव इससे भाग नहीं सकते, साथ ही संयुक्त किसान मोर्चा के पदाधिकारियों पर भी कार्यवाही होनी चाहिए। क्योंकि इन सब लोगों ने ही ट्रैक्टर रैली में शामिल होने के लिए किसानों को बुलाया था. और अब एक्शन शुरू हो गया है पुलिस का.

loading...