फरहान अख्तर के घर पहुंची यूपी पुलिस, मुंबई पुलिस बनी राह में रोड़ा

अमेजन प्राइम वीडियो पर रिलीज हुई वेब सीरीज ‘तांडव’ को लेकर विवाद अभी खत्म भी नहीं हुआ था कि इसी बीच मिर्जापुर वेब सीरीज के निर्माताओं के खिलाफ केस दर्ज हो गया है, यूपी के मिर्जापुर में ‘मिर्जापुर’ वेब सीरीज पर दर्ज मामले की जांच करने पहुंची मिर्जापुर पुलिस की मुंबई पुलिस कर्मियों से नोकझोंक हो गई. यह पूरा मामला तब हुआ जब मिर्जापुर पुलिस अभिनेता फरहान अख्तर के घर पूछताछ के लिए पहुंची थी।

नियमों के मुताबिक किसी दूसरे राज्य से आए हुए पुलिस को मुंबई में किसी भी केस की जांच के लिए मुंबई पुलिस के नोडल ऑफिसर (क्राइम ब्रांच DCP) की इजाजत हासिल करनी होती है. मिर्जापुर पुलिस पिछले 2 दिनों से क्राइम ब्रांच के डीसीपी अकबर पठान के दफ्तर के चक्कर लगा रही है लेकिन डीसीपी अकबर पठान के उपलब्ध नहीं होने से मिर्जापुर पुलिस को जांच की इजाजत नहीं मिल रही है।

गुरुवार सुबह भी मिर्जापुर पुलिस अंधेरी में स्थित क्राइम ब्रांच डीसीपी के दफ्तर पहुंची थी लेकिन मुंबई पुलिस से कोई सहयोग नहीं मिला. इसके बाद मिर्जापुर पुलिस अंधेरी से निकलकर खार इलाके में पहुंची और फरहान अख्तर से पूछताछ करने पहुंच गई. इसके बाद फ़ौरन मुंबई पुलिस की भी टीम पहुँच गई और फरहान से यूपी पुलिस को पूछताछ करने से रोक दिया।

मिर्जापुर में एक अरविंद चतुर्वेदी नाम के शिकायतकर्ता ने FIR कराया है. यह मामला कोतवाली देहात पुलिस स्टेशन में दर्ज है. 17 जनवरी को मामला दर्ज हुआ. मिर्जापुर की छवि, एक विशेष जाती को भावना भड़काने, ठेस पहुचाने का मामला दर्ज हुआ है।

loading...