गोरखपुर: धर्मेन्द्र यादव समेत कई पुलिसवालों ने मिलकर स्वर्ण व्यापारी से की 30 लाख की लूट

उत्तर प्रदेश के कुछ पुलिस वालों ने अपने कुकर्मों से न सिर्फ खाकी पर दाग लगाया है बल्कि पूरे विभाग को शर्मसार कर दिया है, जी हाँ! कुछ पुलिसवालों ने मिलकर सर्राफा व्यापारी को लूट लिया। महराजगंज के दो सर्राफा व्यवसाई को गोरखपुर में अगवा करके 30 लाख की लूट की घटना को अंजाम देने वाले तीनों पुलिस कर्मी 25 महीने से पुरानी बस्ती थाने में तैनात हैं।

लूट की घटना को अंजाम देने वाले पुलिसकर्मियों का नाम धर्मेन्द्र यादव (उ0नि0), महेन्द्र यादव (आरक्षी), संतोष यादव (आरक्षी) है, अन्य तीन लुटेरों का नाम, देवेन्द्र यादव, शैलेश यादव और दुर्गेश अग्रहरी है. सभी आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. आरोपियों से 19 लाख की नगदी बरामद की गई है जबकि कुछ सोना/चांदी, आभूषणों की कीमत तकरीबन 16 लाख रूपये बताई जा रही है।

एसपी हेमराज मीणा के मुताबिक, सितंबर 2018 में बलिया से स्थानांतरित होकर आया दरोगा धर्मेंद्र यादव और 2018 में भर्ती हुए दोनों सिपाहियों महेंद्र यादव व संतोष यादव की जनवरी 2019 में पुरानी बस्ती थाने पर तैनाती हुई थी। गुरुवार को जब पुरानी बस्ती थाने समेत जिले के अन्य पुलिसकर्मियों को लूटकांड में तीनों के शामिल होने का पता चला तो सभी सन्न रह गए।

loading...