पूर्व CJI गोगोई को मिली Z+ सुरक्षा तो खीझे उदित राज, बोले- खतरा मुझे है, सुरक्षा उन्हें मिल रही है

सुप्रीम कोर्ट के पूर्व प्रधान न्यायाधीश रंजन गोगोई को देशभर में कहीं भी आने-जाने के लिए Z+ सुरक्षा मिली है, सीआरपीएफ को उन्हें सुरक्षा मुहैया कराने के लिए कहा गया है। पूर्व चीफ जस्टिस को जेड प्लस सेक्युरिटी मिलने के बाद कांग्रेस नेता उदित राज भड़क गए हैं, उनका कहना है कि खतरा जन नेता को होता है, उन्हें ( रंजन गोगोई ) को क्यों सुरक्षा मिल रही है, उदित राज ने यह भी कहा कि मुझे रोज धमकियां और गालियाँ मिलती रहती हैं, मुझे सुरक्षा देने के बजाय हटा लिया गया.

कांग्रेस प्रवक्ता उदित राज ने अपने ट्वीट में लिखा, रंजन गोगई को कौन सा खतरा है कि Z+ सेक्युरिटी बढ़ा दी। जन नेता जनता से घिरा होता है, खतरा तो उसे है। मुझे लाखों गालियां & धमकियां मिलती हैं, सुरक्षा देने के बजाय हटा लिया। जागीर है जिसको जो चाहें, बांट रहे हैं। उदित राज कई बार सुप्रीम कोर्ट के खिलाफ भी बयान दे चुके हैं।

बता दें कि जेड प्लस सुरक्षा देस की दूसरी बड़ी सुरक्षा है. इसमें 36 सुरक्षाकर्मी होते है. पहले नंबर पर SPG यानि ‘स्पेशल प्रोटेक्शन ग्रुप’ होती है, एसपीजी प्रधानमंत्री को सुरक्षा देती है…पहले पूर्व पीएम मनमोहन सिंह और गाँधी परिवार को भी एसपीजी सुरक्षा मिली थी, लेकिन पिछले साल वापस ले ली गई थी…गौरतलब है कि अयोध्या राम मंदिर मामलें पर रंजन गोगोई ने ही ऐतिहासिक फैसला सुनाया था..

जेड प्लस सुरक्षा में 36 सुरक्षाकर्मी होते है. इनमें 10 एनएसजी और SPG कमांडो होते हैं ,साथ ही कुछ पुलिस भी शामिल होती है. इसमें इंडो तिब्बत बॉर्डर पुलिस ( ITBP ) और सीआरपीएफ के जवान भी सुरक्षा में तैनात होते हैं. इस सुरक्षा में पहले घेरे की ज़िम्मेदारी एनएसजी की होती है जबकि दूसरी परत एसपीजी कमांडो की होती है. साथ ही Z+ सुरक्षा में एस्कॉर्ट्स और पायलट वाहन भी दिए जाते हैं।

loading...