अपने जन्मदिन पर मायावती ने किया बड़ा ऐलान, सपा और कांग्रेस को होगा बड़ा नुकसान

बहुजन समाज पार्टी ( बसपा ) सुप्रीमों और उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री मायावती का आज जन्मदिन है, अपने जन्मदिन के मौके पर मायावती ने बड़ा एलान कर दिया है, मायावती के इस ऐलान से आगामी उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में सपा और कांग्रेस को नुकसानदेह साबित हो सकता है. अपने 66 वे जन्मदिन पर मायावती ने ऐलान किया है कि वो यूपी-उत्तराखंड विधानसभा चुनावों में किसी पार्टी से गठबंधन नहीं करेंगी, मायावती का कहना है कि हमें गठबंधन से नुकसान होता है। उन्‍होंने यह भी कहा कि यूपी में आगामी चुनाव में बीएसपी की जीत तय है।

आपको बता दें कि बसपा यानि मायावती के अकेले चुनाव लड़ने से सपा और कांग्रेस को ज्यादा नुकसान होगा, क्योंकि दलित और मुस्लिम मायावती के कोर वोटर हैं, इसी को सपा और कांग्रेस भी अपना वोटर मानती है, हालाँकि कुछ मुस्लिम सपा और कांग्रेस की तरफ रुख कर सकते हैं और करते रहे हैं, लेकिन दलित वर्ग मायावती को छोड़ना पसंद नहीं करता। लोकसभा चुनाव में सपा-बसपा ने मिलकर चुनाव लड़ा था जिसका सीधा फायदा सपा को हुआ था, लेकिन विधानसभा चुनाव अब मायावती अकेले लड़ेंगी।

चार बार उत्तर प्रदेश की मुख्यमंत्री रह चुकी मायावती यूपी की नब्ज को अच्छे से पहचानती हैं, ऐसे में सपा और कांग्रेस के लिए सियासी जमीन तैयार करना आसान नहीं होगा, क्योंकि उधर योगी सरकार तो हुंकार भर ही रही है. ऐसे में सभी सियासी पार्टियों के लिए भाजपा का किला भेदना आसान नहीं होगा। असदुद्दीन ओवैसी भी यूपी विधानसभा चुनाव में अपनी किस्मत आजमाएंगे। कटटरपंथी मुस्लिमों का ओवैसी की तरफ मुड़ना तय माना जा रहा है।