दंगाइयों का कुकर्म ढ़कने के लिए आगे आये NDTV वाले रवीश कुमार

कृषि कानून के विरोध में कल किसान के वेश में छुपे दंगाइयों ने पूरी दिल्ली में जमकर आतंक मचाया, दंगाइयों ने तलवार के दम पर न सिर्फ लाल किले पर कब्जा किया बल्कि अपना झंडा भी लगा दिया, अब इन दंगाइयों का कुकर्म ढकने के लिए एनडीटीवी वाले रवीश कुमार आगे आ गए हैं, ध्यान रहे रवीश कुमार शाहीन बाग़ के दंगाइयों को बचाने के लिए भी आगे ही खड़े थे, ये वही रवीश कुमार हैं जिन्होनें शाहीन बाग़ के दंगाई शाहरुख को अनुराग मिश्रा बताया था.

ऑपइण्डिया के मुताबिक, एनडीटीवी वाले रवीश कुमार ने कथित किसानों के उग्र बर्ताव को नजरअंदाज करते हुए कहा कि प्रदर्शन तो बहुत शांतिपूर्ण तरह से शुरू हुआ था। लेकिन जैसे-जैसे भीड़ बेकाबू हुई, लाल किले पर अधिक से अधिक ट्रैक्टर आने लगे। रवीश ने यह भी कहा कि प्रदर्शनकारी उग्र नहीं थे बल्कि केवल जोश में थे। अगर ऐसा नहीं होता तो लाल किले को खासा नुकसान पहुँच सकता था।

रवीश कुमार के मुताबिक़, किसानों का तलवार के साथ सड़कों पर आना, लाल किला कब्जाना, घोड़े पर सवार हो पुलिस को खदेड़ना, पुलिस को जानबूझकर मारना, महिला कर्मचारी से बदसलूकी… ये सब उग्र बर्ताव का नतीजा नहीं होता। इसे जोश कहा जाता है। आपको बता दें कि रवीश कुमार हर बार यही प्रोपोगैंडा करते हैं..दंगाइयों का आका बनकर उन्हें बचाने के लिए आगे आ जाते हैं लेकिन रवीश कुमार की एक न चलेगी दिल्ली पुलिस ने दंगाइयों के खिलाफ सख्त एक्शन लेना शुरू कर दिया है।