सरकार से बातचीत से ठीक पहले बोले राकेश टिकैत, कानून संसद लेकर आई है, ये वहीं खत्म होंगे

कृषि कनून के विरोध में आंदोलन कर रहे किसानों और केंद्र सरकार के बीच आज नवें दौर की बातचीत होगी, बातचीत से पहले किसान नेता राकेश टिकैत ने कहा है कि कानून संसद लेकर आई है और ये वहीं खत्म होंगे। कानून वापस लेने पड़ेंगे और MSP पर कानून लाना पड़ेगा। गौरतलब है की अबतक केंद्र सरकार और किसानों के बीच आठ दौर की बातचीत हो चुकी है लेकिन कोई हल नहीं निकल सका है.

भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत ने कहा कि मीटिंग का एजेंडा रहेगा तीन कृषि क़ानूनों की वापसी और न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) पर क़ानून बने. हम वापस नहीं जाएंगे. अब तक 60 किसान शहीद हो चुके हैं. सरकार को जवाब देना होगा.

मालूम हो कि सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र सरकार द्वारा बनाये तीनों नए कृषि कनून के अमल पर रोक लगा दी है और एक चार सदस्यीय कमेटी गठित कर दी है. जो दो महीनों में अपनी रिपोर्ट्स सुप्रीम कोर्ट को सौंपेगी, हालांकि कमेटी ने अभी अपना काम शुरू भी नहीं किया कि उससे पहले कमेटी सदस्य भूपेंद्र सिंह मान ने अपना नाम वापस ले लिया।

loading...