दुर्दांत अपराधी मुख़्तार अंसारी को बचाने के लिए खुलकर मैदान में पंजाब की कांग्रेस सरकार

दुर्दांत अपराधी मुख़्तार अंसारी को बचाने के लिए पंजाब पुलिस खुलकर मैदान में आ चुकी है, मुख्तार को लाने गई यूपी पुलिस को एक बार फिर से बेरंग लौटना पड़ा. इससे पहले भी यूपी पुलिस मुख़्तार अंसारी को लाने गई थी लेकिन पंजाब पुलिस की कृपा से अपराधी यूपी नहीं लाया जा सका।

गौरतलब है कि बलात्कारियों, अपराधियों और अवैध जमीन कब्जाने वालों के खिलाफ उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार का ताबड़तोड़ एक्शन जारी है। बड़े से बड़े अपराधियों पर उत्तर प्रदेश पुलिस कहर बनकर टूट रही है, पंजाब जेल में बंद कुख्यात अपराधी मुख़्तार अंसारी को यूपी पुलिस वापस राज्य में लाना चाहती है लेकिन पंजाब की कांग्रेस सरकार राह में रोड़ा बन रही है.

पंजाब पुलिस का कहना है कि मुख्तार अंसारी की मेडिकल रिपोर्ट के आधार पर उसे उत्तर प्रदेश नहीं भेजा जा सकता है. मुख्तार अंसारी को 2019 में लोकसभा चुनाव के पहले यूपी की बांदा जेल से पंजाब की रोपड़ जेल भेज दिया गया था. तभी से वह वहां बंद है. उसके खिलाफ गाजीपुर में कई मामले चल रहे हैं.

सोमवार को सुप्रीम कोर्ट में कुख्यात अपराधी मुख्तार अंसारी मामले को लेकर सुनवाई होनी है. योगी सरकार मुख्तार अंसारी को पंजाब से लेकर कोर्ट में पेश करना चाहती थी लेकिन पंजाब पुलिस ने प्रत्यर्पण की इजाजत नहीं दी, पंजाब पुलिस का कहना है कि मुख्तार अंसारी की मेडिकल रिपोर्ट के आधार पर उसे उत्तर प्रदेश नहीं भेजा जा सकता है. हम सुप्रीम कोर्ट में जवाब दाखिल कर देंगे।

आपको बता दें कि मुख्तार अंसारी को तलब करने के लिए यूपी की अलग-अलग अदालतों द्वारा दो दर्जन बार फरमान भेजे जा चुके हैं लेकिन दुर्दांत अपराधी अपनी बीमारी की आड़ में यूपी आने से बच रहा है और पंजाब पुलिस इसमें उसका सहयोग भी कर रही है। पंजाब पुलिस राज्य सरकार के अंडर में आती है, पंजाब में इस समय कांग्रेस की सरकार है।

loading...