ट्रम्प का बड़ा फैसला, उपराष्ट्रपति माइक पेंस के स्टॉफ की व्हाईट हाउस में नो इंट्री, जानें क्यों?

अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव में मिली शिकस्त के बाद भी डोनाल्ड ट्रंप और उनके समर्थक हार मानने को तैयार नहीं हैं। डोनाल्ड ट्रंप दबाव बना रहे हैं कि चुनाव में धांधली हुई है। डोनाल्ड ट्रंप के समर्थकों ने इसी सिलसिले में बुधवार को कैपिटल बिल्डिंग पर धावा बोल दिया। ट्रंप समर्थक संख्याबल में कम पड़े पुलिसवालों को छकाते हुए संसद के अंदर घुस गए और उपद्रव करने लगे।

डोनाल्‍ड ट्रंप के समर्थकों के खूनी हिंसा से भड़के उपराष्‍ट्रपति माइक पेंस ने इसे संसद के इतिहास का काला दिन करार दिया है। उन्‍होंने कहा कि हिंसा की ‘कभी जीत नहीं हो सकती है। माइक पेंस के इस बयान से भड़के राष्ट्रपति डोनॉल्ड ट्रम्प ने उनके खिलाफ कड़ा एक्शन लिया है।

मिली जानकारी के मुताबिक, राष्ट्रपति डोनॉल्ड ट्रम्प ने उपराष्ट्रपति माइक पेंस के स्टॉफ की व्हाईट हाउस में इंट्री प्रतिबंधित कर दी है, वाइस प्रेसीडेंट माइक पेंस के चीफ़ ऑफ़ स्टाफ़ मार्क शॉर्ट का कहना है कि उन्हें व्हाइट हाउस में जाने से रोक दिया गया है। उनके मुताबिक़ माइक पेंस को दिए गए उनके सुझाव के लिए राष्ट्रपति ट्रंप उनको दोषी मान रहे हैं।

अमेरिकी मीडिया के मुताबिक़, हिंसा में गोली लगने से एक महिला की जान भी चली गई। पुलिस का कहना है कि अब तक कुल चार लोगों की मौत हो चुकी है। इनमें से तीन लोगों की मौत मेडिकल इमरजेंसी के दौरान हुई।

loading...