पुलिसवालों पर ट्रैक्टर चढ़ाना चाहता था आंदोलनकारी किसान, ट्रैक्टर पलटा और खुद मर गया

कहते हैं है न जो दूसरों के लिए गड्ढा खोदता है, उसका गड्ढा ऊपर वाला पहले ही खोद देता है, जी हाँ, ये चरितार्थ हुआ है आज दिल्ली में तथाकथित किसान आंदोलन में। दरअसल कृषि कानून के विरोध में आज गणतंत्र दिवस पर ट्रेक्टर परेड निकालने का ऐलान किया था, हिंसक हुई ट्रैक्टर परेड में एक आंदोलनकारी किसान की मौत हो गई..सोशल मीडिया पर जो जानकारी सामने आ रही है उसके मुताबिक़, इस किसान की मौत इसकी वजह से ही हुई है.

वरिष्ठ पत्रकार अशोक श्रीवास्तव ने अपने ट्वीट में लिखा, पुलिस और पत्रकार पर ट्रैक्टर चढ़ाने की कोशिश में आंदोलनकारी का ट्रैक्टर पलटा और खुद मर गया। पर आंदोलनकारी नेता और कुछ पत्रकार देश के लोगों को भड़काने के लिए अब भी झूठ फैला रहे हैं। इसलिए आंदोलन स्थल के आस पास अस्थाई रूप से इंटरनेट सेवा बन्द कर दी गई है। मृतक आंदोलनकारी किसान कहाँ का है अभी इसकी पुष्टि नहीं हो पाई है।

बता दें कि ट्रैक्टर परेड के दौरान तथाकथित किसानों ने दिल्ली में जमकर दंगा फसाद किया, गणतंत्र दिवस पर देश की इज्जत की ऐसी-ऐसी करने का काम किया। कहीं कोई किसान पुलिस वालों पर तलवार ताने दिखा, तो घसीटता दिखाई दिया और कहीं पर दौड़ाकर ट्रैक्टर चढाने का प्रयास करता हुआ दिखाई दिया। सोशल मीडिया पर कहा जा रहा है किसान के वेश में उपद्रवी घुस आये हैं दिल्ली में, दिल्ली पुलिस को इनके खिलाफ सख्त एक्शन लेना चाहिए।

loading...