नकाबपोश का कबूलनामा, पहले मुझे पीटा गया, फिर मीडिया के सामने किसान नेताओं ने मुझसे झूठ बुलवाया!

केंद्र सरकार द्वारा बनाये गए तीन नए कृषि कानूनों के विरोध में पिछले लगभग 2 महीनों से दिल्ली बॉर्डर पर हजारों किसान आंदोलन कर रहे हैं, अबतक सरकार और किसानों के बीच 11 दौर की वार्ता हो चुकी है लेकिन कोई हल नहीं निकल सका है, अब इस आंदोलन में तमाम प्रकार की साजिशें भी शुरू हो गई है..

दरअसल किसान नेताओं ने दावा किया कि उन्होंने सिंघु बॉर्डर पर एक संदिग्ध शूटर को पकड़ा है, जो चार किसान नेताओं की ह्त्या करना चाहता था, राकेश टिकैत समेत कई किसान नेताओं की मौजूदगी में संदिग्ध ने प्रेस-कॉन्फ्रेंस में कबूल किया कि वह 26 जनवरी को स्टेज पर चार किसान नेताओं को मारने के उद्देश्य से आया था.

एक वायरल वीडियो में नकाबपोश ने अपना नाम योगेश बताते हुए कहा है कि वह अपनी जान बचाने के लिए किसानों के द्वारा दी गई एक स्क्रिप्ट पढ़ रहा था। वीडियो अपना नाम योगेश निवासी सोनीपत बता रहे युवक ने किसानों पर प्रताड़ित कर झूठ बुलवाने का आरोप लगाया है। उसने ने बताया कि 19 जनवरी को उसके मामा के बेटा हुआ था, इसके लिए वह डीटीसी बस से दिल्ली आया था, तब दिल्ली पुलिस ने उसे नरेला से आगे पैदल भेजा था।

इस दौरान 19 तारीख की शाम साढ़े चार बजे जब मैं कुंडली एरिया में जा रहा था तब मैंने उनसे (किसानों) से यह झूठ बोला था कि वहां कोई लड़की छेड़ रहा है, हालांकि वहां कोई भी लड़की नहीं छेड़ रहा था। इसके बाद उन्होंने मुझे पकड़ लिया और कैम्प में ले जाकर पैंट उतारकर ट्रॉली में उल्टा लटका कर बेल्टों से काफी मारा-पीटा। अगले दिन उन्होंने मुझसे कहा कि हम जो कहेंगे तुझे वही करना होगा, जिसके लिए मैंने हां कर दिया। उसके बाद किसानों ने मुझसे जो कहा था, मैनें मीडिया के सामने वही बोला। सुनिए युवक का पूरा वीडियो

loading...