दिल्ली पुलिस ने दी ट्रैक्टर रैली की इजाजत, रैली में हमले की आशंका, पाकिस्तान से किये जा रहे ट्वीट्स

image tweeted - @Kisanektamorcha

कृषि कानूनों के विरोध में हजारों किसान पिछले लगभग 2 महीनों से दिल्ली बॉर्डर पर आंदोलन कर रहे हैं, आंदोलनकारी किसानों ने 26 जनवरी यानि गणतंत्र दिवस पर ट्रैक्टर रैली निकालने का ऐलान किया है…ट्रैक्टर रैली को लेकर दिल्ली पुलिस और किसानों के बीच कई बार वार्ता हुई, अब आख़िरकार कुछ शर्तों के साथ दिल्ली पुलिस ने किसानों को रैली करने की इजाजत दी है, इस बाबत दिल्ली पुलिस ने आज शाम को प्रेस-कॉन्फ्रेंस की.

दिल्ली पुलिस ने प्रेस-कॉन्फ्रेंस करके दिल्ली में किसानों को ट्रैक्टर Tractor रैली की शर्तों के साथ इजाज़त दे दी है, सिंघु बॉर्डर टीकरी और गाजीपुर बॉर्डर से दिल्ली में कुछ किलोमीटर अंदर आने के बाद रैली डायवर्ट कर दी जायेगी। इसके अलावा दिल्ली पुलिस ने कहा कि ट्रैक्टर रैली में हमले की आशंका है, रैली में विघ्न डालने के लिए पाकिस्तान से ट्वीट्स किये जा रहे। 308 ट्विटर हैंडल चिन्हित किये गए हैं।

दिल्ली पुलिस के स्पेशल कमिश्नर (इंटेलिजेंस) दीपेंद्र पाठक ने प्रेस-कॉन्फ्रेंस करके कहा- गणतंत्र दिवस पर ट्रैक्टर रैली निकालने की मांग का सम्मान करते हुए दिल्ली के 3 जगह से- सिंघु बॉर्डर, टिकरी बॉर्डर और गाजीपुर बॉर्डर से बैरिगेट्स को हटाकर दिल्ली के अंदर मेन रोड पर कुछ किलोमीटर तक अंदर आने पर सहमति हुई है

इससे पहले किसान प्रतिनिधियों और पुलिस की बैठक के बाद योगेंद्र यादव ने कहा, ’26 जनवरी किसान इस देश में पहली बार गणतंत्र दिवस परेड करेगा।पांच दौर की वार्ता के बाद ये सारी बातें कबूल हो गई हैं। सारे बैरिकेड खुलेंगे, हम दिल्ली के अंदर जाएंगे और मार्च करेंगे। रूट के बारे में मोटे तौर पर सहमति बन गई है. उन्होंने आगे कहा- 26 जनवरी को हम अपने दिल की भावना व्यक्त करने अपनी राजधानी के अंदर जाएंगे। एक ऐसी ऐतिहासिक किसान परेड होगी जैसी इस देश ने कभी नहीं देखी। यह शांतिपूर्वक होगी और इस देश के गणतंत्र दिवस परेड पर या इस देश की सुरक्षा आन-बान-शान पर कोई छींटा नहीं पड़ेगा।