दीप सिद्धू के इस बयान से उड़े किसान नेताओं के होश, जल्द खुल सकती है काली करतूतों की पोल

गणतंत्र दिवस पर कृषि कानून के विरोध में किसान नेताओं ने ट्रैक्टर परेड आयोजित की, ये परेड़ शंतिपूर्ण ढंग से दो कदम भी नहीं चल पाई की हिन्सात्मक रूप ले ली, परेड में शामिल किसानों ने जमकर आतंक मचाया। उपद्रवियों ने लालककिले पर तिरंगे की जगह दूसरा झंडा फहरा दिया। आरोप है कि लालकिले पर ये उपद्रव दीप सिद्धू के नेतृव में हुआ, जो पंजाबी एक्टर बताया जा रहा है..मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक़, दीप सिद्धू पर दिल्ली पुलिस ने एफआईआर दर्ज कर ली है और NIA ने भी नोटिस भेजा है, किसान नेता भी सारे दोष दीप सिद्धू पर ही मढ़ रहे हैं और खुद को पाक-साफ दिखाने की कोशिश में जुटे हुए हैं…अब दीप सिद्धू ने खुद एक ऐसा बयान दिया है जिससे किसान नेताओं के होश उड गए हैं.

बुधवार देर रात अपने फेसबुक पेज पर लाइव आकर दीप सिद्धू ने किसान नेताओं से कहा कि तुमने मुझे गद्दार का सर्टिफिकेट दिया है, लेकिन अगर मैंने तुम्हारी परतें खोलनी शुरू कर दीं तो तुम्हें दिल्ली से भागने का रास्ता नहीं मिलेगा। सिद्धू के इस बयान के बाद किसान नेताओं में अफरातफरी मच गई है, माना जा रहा है जल्द दीप सिद्धू किसान नेताओं की काली करतूतों को देश के सामने उजागर कर सकते हैं.

दीप सिद्धू ने कहा कि मुझे इसलिए लाइव आना पड़ा, क्योंकि मेर खिलाफ नफरत फैलाई जा रही है और बहुत कुछ झूठ बोला जा रहा है. उसने कहा कि वो इतने दिनों से ये सब पी रहा था, क्योंकि वो नहीं चाहता था कि किसानों के साझा संघर्ष को कोई नुकसान पहुंचे. दीप सिद्धू ने कहा कि वो कहीं नहीं भागा है, बल्कि वो सिंघु बॉर्डर पर ही है.

दीप सिद्धू ने कहा कि 25 जनवरी की रात को नौजवानों ने मंच पर गुस्सा जताया था, क्योंकि उन्हें पंजाब से दिल्ली में मार्च में शामिल होने के लिए ही बुलाया गया था. इसके लिए बार-बार मंच से बड़े-बड़े ऐलान और वादे किए गए थे. गुस्सा जता रहे नौजवानों ने कहा कि जब हम दिल्ली आ गए तो उन्हें सरकार की ओर से तय किए गए रूट पर जाने के लिए कहा गया, जो उन्हें मंजूर नहीं था. दीप सिद्धू ने कहा कि वो जब लाल किले पर पहुंचा तब तक गेट टूट चुका था और वहां हजारों लोगों की भीड़ खड़ी हुई थी. सुनिए दीप सिद्धू का पूरा वीडियो।

loading...