वेब सीरीज ‘तांडव’ पर भड़के दलित नेता मांझी, कहा- सैफ़ अली खान हलाला-बुर्का पे फिल्म क्यों नहीं बनाता

बॉलीवुड एक्टर सैफ अली खान की वेब सीरीज “तांडव” शुक्रवार ( 15 जनवरी, 2021 ) को रिलीज़ हुई, रिलीज होते ही यह वेब सीरीज विवादों में आ गई है, ‘तांडव’ के डायलॉग्स और सीन को लेकर दर्शकों ने नाराजगी जाहिर की है। वेब सीरीज के पहले एपिसोड में दिखाया गया है कि ऐक्टर जीशान अय्यूब यूनिवर्सिटी के फंक्शन में भगवान शिव के वेश में दिखाई दे रहे हैं। बहुत से लोग से भगवान शिव का इस तरह से रूप दिखाने और भगवान राम के बारे में टिप्पणी करने पर गुस्सा निकाल रहे हैं।

तांडव वेब सीरीज में दलितों का भयानक अपमान किया गया है, हिन्दू और मुसलमान को लड़ाने और भड़काने वाली बातें की गयी हैं. बहुसंख्यक हिन्दू धर्म का अपमान बार-बार करने की कोशिश की गई हैं तांडव वेब सीरीज में…पुलिस अधिकारीयों का अपमान करने की कोशिश की गई है…ये एक जहर से भरी हुई वेब सीरीज है. जो इस देश में अव्यवस्था फैलाना चाहती है. इस वेब सीरीज में ऐसा कंटेंट जानबूझकर डाला गया है ताकि जातिगत हिंसा और धार्मिक हिंसा को बढ़ावा दे।

ताँडव वेब सीरीज पर गुस्सा जाहिर करते हुए दलित नेता हरी मांझी ने ट्वीट कर कहा कि सैफ अली खान व् अन्य मुस्लिम कभी हलाला और बुर्का प्रथा पर फिल्म क्यों नहीं बनाते। आखिर बार-बार हिन्दू आस्था का मजाक क्यों उड़ाते हैं।

बिहार के पूर्व भाजपा सांसद व् विधायक हरी मांझी ने अपने ट्वीट में लिखा, मुझे मेरे एक जानने वाले ने बताया की “तांडव” करके कोई वेब सिरीज़ है जिसमें हिंदुओं को आपस में लड़ाने का काम किया है। ये सैफ़ अली खान और अन्य मुस्लिम ऐक्टर कभी अपने धर्म पर क्यूँ नहीं फ़िल्म बनाते, मै देता हूँ स्क्रिप्ट।
सिया-सुन्नी
सुन्नत
ट्रिपल तलाक़
हलाला
बुर्का प्रथा

इससे पहले भाजपा विधायक रमकदम ने लोगों से अपील की है कि अमेजन के प्रोडक्ट का बॉयकॉट करें और ऐप भी डिलीट करें, महाराष्ट्र के भाजपा नेता रामकदम ने अपने ट्वीट में लिखा, सभी देशवासी तथा विश्वभर के हिन्दूभाई #Amazon के products खरीदना तुरंत बंद करे उनका prime video का app डिलीट करे, जब तक वे हाथ जोड़कर माफी मांगते हुए विवादित #तांडव वेब series को अपने पोर्टल से नहीं हटाते। अब रण होगा। आस्था का मज़ाक उड़ाने वालों को कठोर दंड होगा. अब संयम नहीं, जूतों से हिसाब होगा।