पालघर में मारे गए संतों को नहीं मिल रहा इंसाफ, गिरफ्तार किये गए 89 आरोपियों को कोर्ट ने दी जमानत

बीते साल अप्रैल महीनें में महाराष्ट्र के पालघर में पुलिस के सामनें दो हिन्दू संतों को पीट-पीटकर मौत के घाट उतार दिया गया था, लेकिन अभी तक संतों को इन्साफ नहीं मिल सका, इस मामलें में गिरफ्तार किये गए एक-एक आरोपियों को बारी-बारी से जमानत मिल जा रही है..इसी कड़ी में अब 89 और आरोपियों को जमानत मिल गई है…ये 89 आरोपी पालघर में दो संतों की गई ह्त्या मामलें में गिरफ्तार किये गए थे, अब ठाणे की एक अदालत ने इन सब आरोपियों को
शनिवार (जनवरी 16, 2021) को जमानत दे दी।  ऑपइण्डिया के मुताबिक, अदालत ने सभी 89 लोगों पर जमानत के लिए 15 हजार रुपए की राशि जमा कराने का निर्देश दिया है। अदालत ने इन्हें इस आधार पर जमानत दी कि ये लोग केवल घटनास्थल पर मौजूद थे।

गौरतलब है कि महाराष्ट्र के पालघर के गढ़चिंचिले में बीते 16 अप्रैल 2020 को 2 हिन्दू साधुओं और उनके ड्राईवर की हत्या कर दी गयी थी, दोनों साधुओं को पीट पीट कर पुलिस की मौजूदगी में मौत के घाट उतारा गया था। मीडिया ने मामले को दबाने की भी कोशिश की पर सोशल मीडिया के कारण मामला देश के सामने आया। सोशल मीडिया पर तेजी ये ये मामला उठनें के बाद महाराष्ट्र पुलिस ने कई लोगों को गिरफ्तार किया, लेकिन किसी को कोई विशेष दंड नहीं मिला, सब एक-एक करके जेल से बाहर आ गए.

इस घटना से जुड़े बहुत भयावह वीडियो सामने आये थे, अगर पुलिस चाहती तो दोनों हिन्दू संतों को बचा सकती थी, लेकिन पुलिस ने अपना कर्तव्य निभाने के बजाय संतों को खून की प्यासी भीड़ में झोंक दिया। इस मामले की जाँच के लिए एक स्वतंत्र फैक्ट-फाइंडिंग कमिटी का गठन किया गया था। कमिटी ने साधुओं की मॉब लिंचिंग को लेकर चौंकाने वाला दावा करते हुए कहा है कि इसके पीछे गहरी साजिश थी। साथ ही इस घटना के तार नक्सलियों से भी जुड़ रहे हैं।

loading...