सरकारी अस्पताल में हुई 10 बच्चों की मौत, BJP विधायक की मांग, पीड़ित परिवार को 1-1 करोड़ दे उद्धव सरकार

महाराष्ट्र के भिण्डारा जिले में स्थित सरकारी अस्पताल में एक हृदय विदारक घटना हुई है, शुक्रवार ( 8 जनवरी 2021 ) को रात दो बजे आग लगने की वजह से 10 नवजात शिशुओं की ज़िंदा जलकर मौत हो गई. इस घटना पर दुःख व्यक्त करते हुए भाजपा विधायक ने उद्धव ठाकरे सरकार से मांग की है कि पीड़ित परिवार को एक-एक करोड़ रूपये की आर्थिक मदद की जाय व् जिम्मेदार लोगों पर मनुष्य ह्त्या का केस चलना चाहिए।

भाजपा विधायक रामकदम ने ट्वीट कर कहा कि मां. मुख्यमंत्री जी ( उद्धव ठाकरे ) महाराष्ट्र में भंडारा जिले के अस्पताल में दर्दनाक हादसे में 10 नवजात बालकोकी दुर्भाग्यपूर्ण मौत को जिम्मेदार मंत्री का तुरंत इस्तीफा ले लिया जाए, और इस हादसे के जिम्मेदार लोगों पर मनुष्य हत्या का केस दर्ज किया जाए तथा हर पीड़ित परिवार को 1 करोड़ रुपये दिए जाए.

इसके अलावा उद्धव सरकार गंभीर आरोप लगते हुए राम कदम ने ट्वीट कर कहा कि ‘भंडारा में 10 नन्हें-नन्हें बालकों की हत्या के बाद शर्मनाक बाते सामने आ रही हैं..यह मामला ठंडे बस्ते में डालने के हेतु क्या उनके माँ बाप को भी मीडिया से आज बात नहीं करे करके धमकाया जा रहा हैं? किस किसकी आवाज दबावोंगे।

जानकारी के अनुसार, भंडारा जिला अस्पताल में यह दर्दनाक घटना शुक्रवार रात करीब दो बजे घटी, इस वॉर्ड में कुल कुल 17 बच्चे मौजूद थे, 10 बच्चों की मूत हो गई जबकि 7 बच्चों को रेस्क्यू ऑपरेशन चलाकर 7 बच्चों को सुरक्षित बाहर निकाला गया. दुनिया देखने से पहले नवजात बच्चों की हुई दर्दनाक मौत से उनके परिजनों पर कोहराम टूट पड़ा है. मृतक बच्चों के परिवारों का रो-रोकर बुरा हाल है.

इस दुखद घटना पर केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने दुःख व्यक्त करते हुए कहा कि भंडारा ज़िला अस्पताल में लगी आग दुर्घटना बहुत दुर्भाग्यपूर्ण है। मेरी संवेदनाएं शोक संतप्‍त परिवारों के साथ हैं। भगवान उन्हें इस अपूरणीय क्षति को सहन करने की शक्ति दे…महाराष्ट्र CMO ने कहा कि महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने ज़िला अस्पताल में आग लगने की घटना को लेकर स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे के साथ-साथ भंडारा ज़िले के ज़िला कलेक्टर और पुलिस अधीक्षक से बात की। उन्होंने जांच का भी आदेश दिया है।

loading...