युवराज सिंह ने किया किसानों का समर्थन, अपने पिता योगराज के हिन्दू विरोधी बयान से किया किनारा

साभार - deccan chronicle

भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व स्टार आलराउंडर युवराज सिंह का आज जन्मदिन है, युवराज ने सोशल मीडिया पर घोषणा की इस साल जन्मदिन मनाने के बजाय उम्मीद करेंगे कि किसानों और केंद्र सरकार के बीच जारी तनाव जल्द समाप्त हो। इसके साथ ही उन्होंने अपने पिता के उस बयान से भी खुद को अलग किया जिसमें उन्होंने कहा था कि आंदोलन के समर्थन में खिलाड़ियों को अपने अवॉर्ड वापस कर देने चाहिए।

टि्वटर पर एक बयान साझा करते हुए युवराज ने कहा, बेशक, किसान देश की जान हैं और उन्हें लगता है कि शांतिपूर्वक बातचीत से समस्या का हल निकाला जा सकता है।

उन्होंने आगे लिखा, बर्थडे अपनी इच्छाओं को पूरा करने का एक मौका होता है और इस जन्मदिन पर मैं जश्न मनाने के बजाय, सिर्फ यह मांगता हूं और प्रार्थना करता हूं कि हमारे किसानों और हमारी सरकार के बीच चल रही बातचीत जल्द नतीजे पर पहुंचे।

युवराज ने लिखा, मैं अपने पिता योगराज सिंह के दिए बयान से दुखी और निराश हूं। मैं साफ कर देना चाहता हूं कि उनका बयान निजी है और किसी भी तरह से मेरे विचार उनके जैसे नहीं है। आपको बता दें कि किसान आंदोलन में युवराज के पिता योगराज ने हिन्दू विरोधी बयान देते हुए कहा था की हिन्दुओं की महिलायें तो टके में बिकती हैं.

यह प्रतिक्रिया सोमवार को योगराज सिंह के दिए उस बयान के बाद आई है जिसमें उन्होंने केंद्र सरकार से किसानों की मांगों को सुनने की अपील की थी। योगराज ने उन खिलाड़ियों का समर्थन किया था जो विरोध प्रदर्शन कर रहे हे किसानों के समर्थन में अपने अवॉर्ड लौटा रहे हैं।

loading...