किसानों के साथ केंद्रीय मंत्रियों से मिलने जा रहे योगेंद्र यादव को दिखाया गया बाहर का रास्ता!

कृषि कानून के खिलाफ चल रहे आंदोलन को को ख़त्म करवाने के लिए केंद्र सरकार ने मंगलवार ( 2020 ) को दिल्ली के विज्ञान भवन में किसानों के साथ बातचीत की, केंद्र सरकार ने ३६ किसान संगठनों के मुखियाओं को बातचीत के लिए बुलाया, किसान नेताओं के साथ शाहीन बाग़ समर्थक योगेंद्र यादाव भी केंद्रीय मंत्रियों से मुलाक़ात करने जा रहे थे लेकिन उन्हें बाहर का रास्ता दिखा दिया गया।

यादव को केंद्र सरकार ने किसानों की वार्ता से बाहर कर दिया, इसका मुख्य कारण यह बताया जा रहा है कि सरकार नहीं चाहती कि किसी राजनीतिक व्यक्ति को इसमें शामिल किया जाए।

गौरव प्रधान ने ट्वीट करके कहा कि योगेन्द्र यादव ओमनीपरेजेंट नेता बनता है,जहां भी मोदी विरोधी हैं वहीं पहुँच जाता है,बड़ी मीठी आवाज़ में बोलता है,आज जब मंत्रियों के समूह से 35 किसान संगठनों के नेता विज्ञानभवन में मिलने गये उनमें शामिल होके गया तो इसे ससम्मान धक्के देकर बाहर किया गया।

आपको बता दें कि जहाँ मोदी सरकार के विरोध में आंदोलन होता है वहां योगेंद्र यादव पहुँच जाते हैं, चाहें शाहीन बाग़ हो या अब किसान आंदोलन, योगेंद्र यादव यहाँ नजर आ रहे हैं और अपनी राजनीति चमकाने की कोशिश कर रहे हैं।