किसानों के लिए बिचौलिया मुक्त बाजार की वकालत करती थी सोनिया गांधी, वायरल हुआ 8 साला पुराना वीडियो

केंद्र की मोदी सरकार द्वारा बनाये गए तीन नए कृषि कानूनों को लेकर विवाद छिड़ा है, कुछ राज्यों के किसानों के साथ-साथ कांग्रेस पार्टी सबसे ज्यादा नए कृषि कानून के विरोध कर रही है और इसे रद्द करने की मांग कर रही है, सोशल मीडिया पर कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी का एक वीडियो वायरल हो रहा है जिसमें वो खुद बिचौलिया मुक्त बाजार की वकालत कर रही हैं और अब जब मोदी सरकार नए कृषि कानून बनाकर बिचौलिया मुक्त बाजार बना दिया तो उसका विरोध कर रही हैं.

वायरल वीडियो में कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी कह रही हैं कि किसानों को उनकी पैदावार की सही कीमत तभी मिलेगी जब वे बिना किसी बिचौलिए के अपनी पैदावार सीधे शहरों तक पहुँचा सकेंगे. एनडीटीवी के पत्रकार अखिलेश शर्मा ने सोनिया गांधी के इस पुराने वीडियो को शेयर करते हुए दावा किया है कि ये वीडियो गुजरात के राजकोट का 3 अक्तूबर 2012 का है।

गौरतलब है कि किसान और ग्राहक के बीच जो बिचौलिए होते हैं, जो किसानों की कमाई का बड़ा हिस्सा खुद ले लेते हैं, लेकिन नए कृषि कानून के बनने के बाद बिचौलिए के पुराने दिन गए. जो बड़ा हिस्सा पहले बिचौलियों के खाते में जाता था वो अब सीधे किसान के खाते में जाएगा।

सोनिया गांधी के पूराने वीडियो को शेयर करते हुए भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने भी उनपर निशाना साधा है, नड्डा ने अपने ट्वीट में लिखा, किसानों को भ्रमित करने और उन्हें उनके अधिकारों से वंचित रखने वाली कांग्रेस का सच फिर उजागर हुआ है। सोनिया गांधी जी पहले किसानों के लिए बिचौलिया मुक्त बाजार की वकालत करती थी और अब इसका विरोध करती है। ये कांग्रेस की मौक़ापरस्त सोच, कम जानकारी व बार-बार बात से पलटने का प्रमाण है।

सोनिया गांधी का ये वीडियो ऐसे समय में वायरल हुआ है जो उनके बेटे और पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी कृषि कानून का विरोध करते हुए राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से मिले और 2 करोड़ किसानों के हस्ताक्षर सौंपने का दावा किया।