किसान आंदोलन: सिंघु बॉर्डर पर सिख संत राम सिंह ने खुद को गोली मारकर की आत्महत्या

कृषि कानून के विरोध में पिछले 21 दिनों से चल रहे किसान आंदोलन से एक दुःखद खबर सामने आई है, किसानों के आंदोलन के दौरान बुधवार को संत बाबा राम सिंह ने आत्महत्या कर ली। अकाली दल के नेता मनजिंदर सिंह सिरसा ने ट्वीट कर इसकी जानकारी दी है.

बताया जा रहा है कि दिल्ली-हरियाणा बॉर्डर (सिंघु बार्डर) पर धरने में शामिल संत बाबा राम सिंह ने बुधवार को खुद को गोली मार ली। गोली लगने से उनकी मौत हो गई है। घायल अवस्था में उन्हें एक निजी अस्पताल में भर्ती करवाया गया, जहां पर चिकित्सकों ने मृत घोषित कर दिया। बाबा राम सिंह करनाल के रहने वाले थे। उनका एक सुइसाइड नोट भी सामने आया है.

अकाली दल के नेता मनजिंदर सिंह सिरसा ने ट्वीट कर लिखा, संत राम सिंह जी सिंगड़े वाले ने किसानों की व्यथा को देखते हुए आत्महत्या कर ली। इस आंदोलन ने पूरे देश की आत्मा झकझोर कर रख दी है। मेरी वाहेगुरु से अरदास है कि उनकी आत्मा को शांति मिले। आप सभी से संयम बनाकर रखने की विनती