पंजाब में सबसे ज्यादा है मंडी टैक्स, उसी को मोदी सरकार ने ख़त्म कर दिया, इसलिए बिचौलिए बौखला गए हैं: सत्यपाल सिंह

भाजपा सांसद डॉ सत्यपाल सिंह ने कहा है कि पंजाब में मंडी टैक्स ज्यादा है, नए कृषि कानून के तहत मंडी टैक्स ख़त्म हो जाएंगे, इसलिए बिचौलिए बौखलाए हुए हैं. उत्तर प्रदेश के बागपत से भाजपा सांसद और पूर्व केंद्रीय मंत्री डॉ सत्यपाल सिंह ने कहा कि पंजाब में मंडी टैक्स सबसे ज़्यादा 8.5% है। किसानों को 8.5% बिचौलियों को देना पड़ता था। नए क़ानून मंडी टैक्स को ख़त्म करेंगे, उनको (बिचौलियों ) खतरा लग रहा है कि आगे उनका क्या होगा।

डॉ सत्यपाल ने कहा कि लोकतंत्र की आत्मा है संवाद। बड़े से बड़े विवाद संवाद से सुलझते है। युद्धों का अंत भी अंतत: संवाद से ही होता है। किसानों का मुद्दा इतना बड़ा नहीं जितना बनाया गया है। इसे आसानी से सुलझाया जा सकता है बशर्ते सुनने, सुनाने और सुलझाने की ईमानदार नीयत हो। अड़ंगा नहीं, अजेंडा चाहिये ।

गौरतलब है कि कृषि कानून के विरोध में दिल्ली बॉर्डर पर पिछले 29 दिनों से किसानों का आंदोलन जारी है, इस किसान आंदोलन में पंजाब के किसान बढ़-चढ़कर हिस्सा ले रहे हैं, आंदोलनकारी किसानों की मांग है कि नए कृषि कानूनों को तत्काल रद्द किया जाय. क्योंकि ये कानून किसान विरोधी हैं, वहीँ केंद्र सरकार का कहना है कि नए कृषि कानून किसानों के हित में है, इससे किसानों को अपनी फसल के अच्छे दाम मिल जाएंगे, क्योंकि बचौलिये ख़त्म हो जाएंगे।