हस्ताक्षर करते-करते सूज गई हैं सुरजेवाला की अंगुलियाँ, संबित पात्रा ने बताई 2 करोड़ हस्ताक्षर की हकीकत!

कृषि कानून के विरोध में कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने आज ( 24 दिसंबर, 2020 ) को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से मिले और किसानों के हस्ताक्षर सौंपे, राहुल गांधी ने दावा किया कि 2 करोड़ किसानों ने कृषि कानून के विरोध में हस्ताक्षर किया है..राहुल गाँधी के 2 करोड़ हस्ताक्षर के दावे के बाद तरह-तरह के सवाल उठने लगे हैं कि आखिर ये 2 करोड़ हस्ताक्षर किसके हैं..भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता संबित पात्रा ने राहुल गांधी के दावे को ख़ारिज करते हुए हस्ताक्षर को फर्जी बताया, साथ ही यह भी कहा कि 5 दिनों से हस्ताक्षर करते-करते कांग्रेस नेता रणदीप सिंह सुरजेवाला की अंगुलियाँ सूज गई हैं.

आजतक न्यूज़ चैनल पर डिबेट के दौरान संबित पात्रा ने 2 करोड़ हस्ताक्षर की हकीकत बताई, भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता डॉ पात्रा ने कहा कि रणदीप सिंह सुरजेवाला 5 दिनों से दिखाई नहीं दे रहे हैं..कांग्रेस ने एक कमेटी बनाई थी, इसमें आनंद शर्मा, रणदीप सुरजेवाला, गुलाम नबी आजाद शामिल थे, इन सबको कमरे में बंद कर दिया गया था और दो हजार हस्ताक्षर करने का टॉस्क दिया गया।

संबित ने कहा कि जिस दिन आनंद शर्मा को कमेटी से निकाला, वो निकल गए, बोले- मैं हस्ताक्षर नहीं करूँगा, मुझे कमेटी से निकाला है, तुम करो, संबित ने आगे कहा कि बेचारे रणदीप सिंह सुरजेवाला 5 दिन से हस्ताक्षर कर रहे हैं. सुरजेवाला की अंगुलियां सूज-सूजकर मोटी हो गई हैं…अंत में संबित पात्रा ने कहा कि अगर 2 करोड़ हस्ताक्षर राहुल गांधी को मिल गए होते तो वो फिर से कांग्रेस पार्टी का अध्यक्ष बन गए होते, ये हालत न होती उनकी।

बता दें कि राष्ट्रपति से मिलने के बाद मीडिया से बात करते हुए राहुल गाँधी ने कहा कि राष्ट्रपति से हमने कहा कि ये जो कानून बनाए गए हैं ये किसान विरोधी हैं और इनसे किसानों,मज़दूरों का नुकसान होने वाला है। मैं प्रधानमंत्री से कहना चाहता हूं कि किसान हटेगा नहीं, प्रधानमंत्री को ये नहीं सोचना चाहिए कि किसान, मज़दूर घर चले जाएंगे।