कांग्रेस नेता जयराम रमेश ने तो माफ़ी मांग ली, रवीश कुमार कब मांगेंगे विवेक डोभाल से माफ़ी?

बीच में विवेक डोभाल, तस्वीर साभार- ऑउटलुक

शनिवार ( 19 दिसंबर, 2020 ) को कांग्रेस के वरिष्ठ नेता जयराम रमेश ने भारत के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार ( NSA ) अजित डोभाल के बेटे विवेक डोभाल से माफ़ी मांग ली, कांग्रेस नेता जयराम रमेश ने कहा, ‘मैंने विवेक डोभाल के खिलाफ बयान दिया। चुनावों के समय मैंने गुस्से में आकर कई आरोप लगाए। मुझे इसका सत्यापन करना चाहिए था। जयराम रमेश ने एक मैगजीन में छपे झूठे लेख के आधार विवेक डोभाल पर गंभीर आरोप लगाए थे…इसके बाद विवेक डोभाल ने कांग्रेस नेता जयराम रमेश और कारवां मैगज़ीन के ख़िलाफ़ एक बयान और लेख के लिए मानहानि का मुकदमा दायर किया था। जयराम रमेश ने तो माफ़ी मांग ली लेकिन कारवां के खिलाफ मुकदमा चलता रहेगा।

विवेक डोभाल के खिलाफ प्रकाशित किये गए कारवाँ के प्रोपोगैंडा लेख को आगे बढ़ाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी एनडीटीवी के पत्रकार रवीश कुमार ने, अब सवाल यह उठता है कि जयराम रमेश ने तो माफ़ी मांग ली है, रवीश कुमार माफ़ी कब मांगेंगे। रवीश कुमार का फेसबुक पोस्ट सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है जो उन्होंने डोभाल के खिलाफ लिखे थे.

आपको बता दें कि राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजित डोभाल के बेटे विवेक डोभाल ने अपमानजनक लेख प्रकाशित करने के लिए जनवरी 2019 में दिल्ली की एक अदालत में कारवां मैगजीन के खिलाफ मानहानी का मुकदमा दायर किया था। जयराम रमेश ने भी पत्रिका में प्रकाशित लेख के जरिए कही गई अपमानजनक बातें एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में दुहराई थीं, इसलिए उनके खिलाफ भी एक आपराधिक मामला दायर किया गया था। डोभाल ने आरोप लगाया कि पत्रिका जानबूझकर उनकी छवि खराब कर रही है और उनका बदनाम कर रही है। उन्होंने कहा था कि मैगजीन यह सब उनके पिता अजीत डोभाल से खुन्नस निकालने के चक्कर में कर रही है।

कारवाँ के लेख में दावा किया गया कि विवेक एक विदेशी फंड फर्म चला रहे हैं जिसके प्रमोटरों की संदिग्ध पृष्ठभूमि रही है। इसको बेबुनियाद बताते हुए विवेक डोभाल ने मैगजीन के खिलाफ मुकदमा दायर किया हैं। कारवाँ के खिलाफ मुकदमा अदालत में चल रहा है.