मदरसे के मौलवी को सुनाई गई 20 साल की सजा, 8 साल की मासूम बच्ची से कई महीनों किया था दुष्कर्म

आठ साल की मासूम बच्ची के साथ कई महीनों तक कुकर्म करने वाले मदरसे के मौलवी को अदालत ने कठोर सजा सुनाई है, बलात्कारियों को ऐसी ही सजा मिलनी भी चाहिए। अदालत ने मौलवी को न सिर्फ 20 साल की सजा सुनाई बल्कि 50 हजार रूपये का जुर्माना भी ठोंका। कोर्ट के आदेश के मुताबिक़, जुर्माने की राशि पीड़िता के परिवार को दी जायेगी।

मदरसे की छात्रा से बलात्कार का यह मामला यूपी के रामपुर के अजीमनगर थाना क्षेत्र का है। क्षेत्र के गांव में मदरसे में पढ़ने वाली आठ साल की बालिका के परिजनों ने अजीमनगर थाने में चार मार्च 2019 को तहरीर देकर आरोप लगाया था कि मदरसे के मौलवी कारी तलहा मदरसे में पढ़ने वाली उसकी आठ साल की बेटी के साथ मौलवी दो माह से अश्लील हरकतें कर रहा है।

आरोप था कि उसकी बेटी को नग्न कर उसके अंगों से छेड़खानी करता था। पुलिस ने अपनी जांच में मौलवी पर पास्को एक्ट के साथ ही बलात्कार की भी धारा लगाते हुए चार्जशीट कोर्ट में दाखिल की। कोर्ट मे इस मामले की सुनवाई हुई और फिर इस मुकदमे का फैसला सुनाया।

दोनों पक्षों की दलील सुनने के बाद कोर्ट ने मौलवी कारी तलहा को दोषी मानते हुए बीस साल की कैद और पचास हजार रुपये का जुर्माना अदा करने की सजा सुनाई है।