कनाड़ा के प्रधानमंत्री को राजनाथ ने दी सख्त हिदायत, कहा- अपनी जुबान काबू में रखें ट्रुडो, वरना,.?

भाजपा के वरिष्ठ नेता और रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने बुधवार ( 30 दिसंबर, 2020 ) को न्यूज़ एजेंसी ANI की एडिटर स्मिता प्रकाश को इंटरव्यू दिया, इस दौरान रक्षामंत्री ने कृषि कानून के विरोध में हो रहे किसान आंदोलन से लेकर भारत-चीन के बीच चल रही तनातनी को लेकर बातचीत की। इंटरव्यू के दौरान एक सवाल के जवाब में रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रुडो को सख्त हिदायत देते हुए कहा कि भारत के आंतरिक मामलों में दखल न दें. उल्लेखनीय है कि कनाडाई प्रधानमंत्री ने किसान आंदोलन को लेकर बयान दिया था.

रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि जस्टिन ट्रुडो ही नहीं, मैं दुनिया के हर प्रधानमंत्री को बता देना चाहता हूँ कि हमारे आंतरिक मामलों में कोई दखल न दें, हम आपस में बैठकर मामलें का हल निकाल लेंगे, किसी बाहरी की आवश्यक्ता नहीं है हमें। और न ही भारत कोई ऐरा-गैरा देश है कि कोई बाहरी कुछ भी बोल दे. इसके अलावा किसान आंदोलन में पीएम मोदी के खिलाफ हो रही वाहयात नारेबाजी पर राजनाथ ने सख्त आपत्ति जाहिर की.

रक्षामंत्री ने कहा कि मैं खुद किसान परिवार से आता हूँ, सरकार ने किसानों के हित में कानून बनाया है, इस कानून से किसानों को फायदा होगा, नुकसान का तो सवाल ही नहीं उठता। इसके अलावा राहुल गांधी पर निशाना साधते हुए रक्षामंत्री ने कहा कि खेती-किसानी के बारें में मैं उनसे ज्यादा जानता हूँ..उल्लेखनीय है कि कृषि कनून का विरोध करते-करते कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी इटली निकल गए हैं.’

भारत-चीन मुद्दे पर बात करते हुए रक्षामंत्री ने कहा कि इंडो-चीन के बीच जो स्टैंड ऑफ चल रहा था उसे दूर करने के लिए बातचीत चल रही थी लेकिन उसमें अभी तक कोई कामयाबी नहीं मिली है, अभी तक यथास्थिति बनी हुई है। अगले राउंड की भी बैठक होगी उसमें मिलिट्री लेवल पर बातचीत होगी। यदि कोई देश विस्तारवादी है और भारत की भूमि पर कब्जा करने की कोशिश करता है, तो भारत के अंदर वो ताकत है कि वो अपनी ज़मीन किसी दूसरे के हाथ में नहीं जाने देगा।