अफवाह की फैक्ट्री बन चुके हैं राहुल गांधी, इस बार भारत-रूस के संबंधों को लेकर फैलाया झूठ

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी और कांग्रेस के तमाम नेता अक्सर झूठ फैलाते हुए पकडे जाते रहते हैं, कांग्रेस नेताओं के लिए झूठ फैलाना साधारण सी बात बन गई है, हैरानी इस बात है कि राष्ट्रीय मुद्दों पर भी झूठ फ़ैलाने से कतराते नहीं। ताजा मामला भारत-रूस के संबंधों से जुड़ा है. जिसको लेकर राहुल गांधी ने झूठ फैलाई।

दरअसल भारत और रूस के बीच होने वाला सालाना शिखर सम्मेलन इस बार कोविड-19 महामारी के संकट के कारण रद्द किया गया है. लेकिन राहुल गांधी ने ट्वीट करके रद्द करने की दूसरी वजह बताई। राहुल गांधी ने ट्वीट कर कहा कि पारंपरिक रिश्तों में कमजोर भारत के भविष्य के लिए खतरनाक है. राहुल गांधी के इस ट्वीट के विदेश मंत्रालय ने सफाई दी है कि शिखर सम्मेलन कोविड-19 महामारी के संकट के कारण रद्द किया गया है. इसके लिए कोई अन्य वजह बताने की खबरें भ्रामक और झूठ हैं।

भारतीय विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अनुराग श्रीवास्तव ने कहा कि भारत और रूस के बीच सालाना शिखर सम्मेलन कोविड के कारण आयोजित नहीं किया गया. इसमें दोनों देशों की सरकारों की सहमति है. इससे पहले कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने एक मीडिया रिपोर्ट का हवाला देते हुए कहा था कि रूस भारत के एक महत्वपूर्ण मित्र है. पारंपरिक संबंधों को नुकसान पहुंचाना अदूरदर्शी और देश के भविष्य के लिए खतरनाक है।

आपको बता दें कि इससे पहले भाई राहुल गांधी कई बार झूठ फैलाते हुए पकडे जा चुके हैं, अभी हाल ही में कांग्रेस के वरिष्ठ नेता जयराम रमेश ने NSA अजित डोभाल के बेटे विवेक डोभाल से माफ़ी मांगी थी, क्योंकि उन्होंने डोभाल के खिलाफ झूठ फैलाया था।