पद से हटने के बाद भी न रुस के राष्ट्रपति पर दर्ज होगा मुकदमा, न गिरफ़्तारी, पुतिन ने बनाया अनोखा कानून

रूस के राष्ट्रपति ब्लादिमीर पुतिन ने एक अनोखा कानून बनाया है, इस कानून का फायदा रूस के राष्ट्रपति को मिलेगा, पद से हटने के बाद भी ये प्रभावी रहेगा। इस कानून के तहत रूस के राष्ट्रपति पर न तो मुकदमा न दर्ज होगा और न ही गिरफ़्तारी होगी, दूसरे शब्दों में कहें तो यह कानून देश के राष्ट्रपतियों को पद से हटने के बाद भी आजीवन आपराधिक मामलों से बचाएगा।

नए कानून के तहत रूस के पूर्व राष्ट्रपतिओं के साथ ही उनके परिवार के लोग भी पुलिस जांच और पूछताछ के दायरे में नहीं रहेंगे। कानून के जरिए अब राष्ट्रपति पद छोड़ने के बाद भी वह शख्स आजीवन सीनेटर रहेगा और उसे हर तरह के आपराधिक मामले से प्रतिरक्षा हासिल होगी। यह कानून इसी साल गर्मियों में जनमत संग्रह के बाद हुए उस संविधान संशोधन का हिस्सा है जिसके तहत पुतिन साल 2036 तक देश तक राष्ट्रपति बने रह सकते हैं।

मंगलवार को पुतिन ने जिस बिल पर हस्ताक्षर किए हैं वह पूर्व राष्ट्रपतियों को फेडरेशन काउंसिल या सीनेट में आजीवन सदस्यता देता है, यानी एक ऐसा पद जो राष्ट्रपति पद से हटने के बाद भी मुकदमों से छूट देगा।