आज अमित शाह से मिलने जाएंगे पंजाब के सीएम अमरिंदर सिंह, मिल सकती है ये बड़ी जिम्मेदारी

केंद्र सरकार द्वारा बनाये गए कृषि कानून के खिलाफ पिछले लगभग एक हफ्ते से किसानों का प्रदर्शन जारी है, कुछ किसान दिल्ली में प्रवेश कर गए हैं तो कुछ दिल्ली बॉर्डर पर जमे हुए हैं। किसान और सरकार के बीच कई राउंड की बातचीत हो चुकी है लेकिन अभी तक कोई हल नहीं निकला। पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह आज केंद्रीय गृहमंत्री से मिलने दिल्ली पहुंचेंगे।

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पंजाब के मुख्य्मंत्री अमरिंदर सिंह पहले ही किसानों और केंद्र के बीच बातचीत के पक्षधर रहे हैं और दोनों के बीच मध्यस्थता की पेशकश भी कर चुके हैं। ऐसे में केंद्र सरकार किसान आंदोलन को शांत कराने में उनके लिए अहम भूमिका चुन सकती है। आज एक बार फिर किसानों और सरकार के बीच बातचीत होगी।

किसानों का कहना है कि केंद्र सरकार संसद का विशेष सत्र बुलाकार नए कृषि कानून को रद्द करे वरना आंदोलन और तेज होगा। वहीँ सरकार के रुख से साफ़ है कि कृषि कानून किसी भी हालत में रद्द नहीं होगा। इसका अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि जब दिल्ली में किसान आंदोलन कर रहे थे तब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी में नए कृषि कानूनों की तारीफ कर रहे थे।

अब देखना यह दिलचस्प होगा कि क्या कृषि कानून रद्द होता है या नहीं। या प्रदर्शनकारी किसान सरकार की बात मान लेंगे और आंदोलन ख़त्म करके घर चले जाएंगे। किसानों के आंदोलन की वजह से दिल्ली वालों को भी काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है. ट्रैफिक जाम की समस्या ज्यादा है. किसानों ने चेतावनी दी है कि अगर हमारी मांगें पूरी नहीं हुई तो हम दिल्ली के पांच प्रमुख एंट्री पॉइंट को बंद कर देंगे। किसानों ने कुछ इंट्री पॉइंट को बंद कार दिया है, जिसकी वजह से दूध वगैरा की सप्लाई स्लो हो गई है. पानी की भी समस्या हो रही है.