कृषि कानून के खिलाफ प्रकाश सिंह बादल ने लौटाया पद्म विभूषण, ट्रेंड हुआ #AwardWapsiReturns

तस्वीर साभार - HW News

केंद्र सरकार द्वारा बनाये गए कृषि कानून के विरोध में पंजाब के किसान पिछले लगभग एक हफ्ते से विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं, कुछ किसान दिल्ली में प्रवेश कर गए हैं तो कुछ किसान दिल्ली बॉर्डर पर जमे हुए हैं. किसान आंदोलन पर अब राजनीति तेज हो रही है, इन सब के बीच पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल ने अपना पद्म विभूषण अवॉर्ड लौटा दिया है, कृषि कानून का विरोध और किसान आंदोलन का समर्थन करते हुए उन्होंने कहा कि सरकार ने किसानों के साथ धोखा किया है.

अकाली दल के नेता और पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल के अवॉर्ड लौटाए जाने के बाद ट्विटर पर #AwardWapsiReturns ट्रेंड हो रहा है, इस ट्रेंड के माध्यम से लोग तरह-तरह की बातें लिख रहे हैं. कुछ लोगों का कहना है कि अवॉर्ड के साथ जो लाखों रूपये मिलते हैं उसको भी लौटाना चाहिए। फिल्ममेकर विवेक अग्निहोत्री ने ट्वीट कर कहा कि ‘सिर्फ पद्म विभूषण’, क्यों? सारे सरकारी भत्ते वापस करने चाहिए।

पांच बार पंजाब के मुख्यमंत्री रह चुके प्रकाश सिंह बादल पंजाब के एक कद्दावर नेता हैं और भारतीय जनता पार्टी के साथ गठबंधन का श्रेय उन्हीं को जाता है। पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ उनके रिश्ते काफी अच्छे थे। लेकिन जबसे उनके बेटे सुखबीर सिंह बादल ने कमान संभाली तबसे सबकुछ बदल गया. यहाँ तक कि अकाली दल ने भाजपा से गठबंधन भी तोड़ दिया।

आपको बता दें कि कृषि कानून को लेकर केंद्र सरकार किसानों के बीच कई राउंड की बातचीत हुई लेकिन कोई हल नहीं निकला। दिल्ली के विज्ञान भवन में आज फिर किसानों और केंद्र सरकार के बीच बातचीत चल रही है. विज्ञान भवन में 42 किसान संगठनों के नेता मौजूद हैं. जबकि केंद्र सरकार की तरफ से तीन केंद्रीय मंत्री मौजूद हैं, जिसमें केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर, पीयूष गोयल और सोम प्रकाश। अब देखना यह है कि इस बातचीत का क्या नतीजा निकलता है.