MP: रामभक्तों पर किया पथराव, जवाबी कार्यवाही में पुलिस ने ध्वस्त कर दिया आरोपी शांतिदूतों का घर

मध्यप्रदेश के भीकनगांव(खरगोन) में राम मंदिर निधि संग्रह के लिए वाहन यात्रा निकाल रहें रामभक्तों पर समुदाय विशेष द्वारा पत्थरबाजी व हमला किया गया था। जवाबी कार्यवाही में पुलिस ने आरोपित शांतिदूतों के घर जेसीबी से ध्वस्त कर दिया। इससे पहले यही कार्यवाही पुलिस ने उज्जैन के बेगमबाग में की थी.

सुप्रीम कोर्ट के वकील प्रशांत पटेल ने ट्वीट कर जानकारी दी है कि भीकनगांव(खरगोन), मध्य प्रदेश में भी राम मंदिर निधि संग्रह के लिए वाहन यात्रा निकाल रहें रामभक्तों पर समुदाय द्वारा पत्थरबाजी व हमला किया गया था। पुलिस नें कार्यवाही करते हुए दोषियों के घरों को JCB से ढ़हा दिया जबकि शांतिदूत उज्जैन काजी की तरह 15 मिनट की धमकी देते रहे।

आपको बता दें कि इससे पहले मध्यप्रदेश में उज्जैन के बेमबाग इलाके से शुक्रवार ( 25 दिसंबर, 2020 ) को निकल रहे हिन्दू कार्यकर्ताओं पर बुर्कानाशीनों ने छत से पत्थरबाजी की…इस घटना के बाद सरकार हरकत में आई और 24 घंटे के अंदर उस घर को ध्वस्त कर दिया गया, जिस घर से रामभक्तों पर पत्थरबाजी हुई थी. जानकारी के मुताबिक़ जिस घर के नज़दीक अराजक तत्वों ने पथराव की घटना को अंजाम दिया था, वह ग़ैरक़ानूनी था। इसके बाद अधिकारियों ने घर को जेसीबी मशीन से ध्वस्त कर दिया।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक़, घटना वाले दिन मुस्लिम भीड़ द्वारा पत्थरबाजी किये जाने के बाद दोनों समुदायों के बीच झड़प हुई और इलाके में तनाव व्याप्त हो गया। वहाँ खड़ी कई गाड़ियों को क्षतिग्रस्त कर दिया गया। तोड़-फोड़ और पथराव की इस घटना में 10 लोगों के घायल होने की सूचना है। पुलिस ने एक आरोपित को गिरफ्तार भी किया है।

हिंदू कार्यकर्ता अयोध्या में निर्माणाधीन राम मंदिर के लिए चंदा इकट्ठा करने के लिए रैली निकाल रहे थे। इस रैली को टॉवर क्षेत्र से महाकाल क्षेत्र स्थित भारत माता मंदिर तक जाना था। तभी रास्ते में ही बेगमबाग क्षेत्र में मुस्लिम समुदाय के कुछ असामाजिक तत्वों ने रैली पर पथराव शुरू कर दिया। यही नहीं मुस्लिमों की भीड़ ने गाड़ियों को भी छतिग्रस्त कर दिया।

loading...