नेपाल में नाटकीय घटनाक्रम, प्रधानमंत्री केपी ओली के इस फैसले से सब हैरान

पडोसी देश में नेपाल में बड़ा सियासी घटनाक्रम सामने आया है, मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक़, नेपाल के प्रधानमंत्री केपी शर्मा ओली ने रविवार को सुबह 10 बजे कैबिनेट की आपात बैठक बुलाई और थोड़ी ही देर बाद राष्ट्रपति विद्या देवी भंडारी से संसद भंग करने की सिफ़ारिश कर दी.

पीएम केपी ओली ने जब ये आपात बैठक बुलाई तो काठमांडू के सियासी गलियारों में यह चर्चा होने लगी कि हाल ही में लाया गया अध्यादेश वापस करने पर ओली सरकार फैसला करेगी लेकिन जब संसद भंग करने की खबरें आईं तो सभी चौंक गए.

ओली केबिनेट में ऊर्जा मंत्री रहे बरशमन पुन ने कहा, आज की कैबिनेट बैठक ने संसद को भंग करने की सिफारिश राष्ट्रपति को भेजने का फैसला किया गया. सत्ता पक्ष के ही कई सदस्यों ने पीएम के इस कदम की आलोचना की है. पीएम ने यह कदम तब उठाया, जब संसदीय समिति में उन्होंने बहुमत खो दिया। शनिवार को पीएम ओली ने सहयोगी दल के अध्यक्ष पुष्प कमल दहल के साथ सुबह में और दोपहर में सचिवालय के सदस्य राम बहादुर थापा और शाम को राष्ट्रपति भंडारी के साथ कई बैठकें की थीं।