कृषि कानून: मोदी और शाह के बीच मंथन जारी, कानून में बदलाव के संकेत

कृषि कानून का विरोध कर रहे किसानों और केंद्र सरकार के बीच कल बातचीत हुई लेकिन बेनतीजा रही. जिसके बाद किसानों ने आंदोलन जारी रखने का फैसला लिया। इन सबके बीच केंद्र सरकार की बड़ी बैठक चल रही है. आज किसान और सरकार के बीच होने वाली बातचीत से पहले मोदी सरकार ने मंथन शुरू कर दिया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के बीच प्रधानमंत्री आवास पर बैठक चल रही है.

किसानों की मांग को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार सुबह मंत्रिमंडल के वरिष्ठ नेताओं की बैठक बुलाई. इस बैठक में गृहमंत्री अमित शाह, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर और पीयूष गोयल शामिल हुए.

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, सरकार किसानों के सामने कृषि कानूनों में कुछ संशोधन की पेशकश कर सकती है. कॉंट्रैक्ट फ़ार्मिंग में विवाद होने पर एसडीएम के बजाय सिविल कोर्ट में जाने की अनुमति देने पर विचार किया जा सकता है. बता दें कि नए कृषि कानून में विवाद को एसडीएम के पास सुलझाने की व्यवस्था है. कोर्ट में जाने का कोई प्रावधान नहीं है.

केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने बैठक से पहले कहा कि दोपहर में किसानों के साथ एक बैठक निर्धारित है. मुझे बहुत उम्मीद है कि किसान सकारात्मक सोचेंगे और अपना आंदोलन समाप्त करेंगे। किसानों ने आगामी आठ दिसंबर को भारत बंद करने का भी आह्वान किया है.

loading...