भाजपा को हराने के लिए तेजस्वी ने दी ममता को सलाह, कहा- इन दोनों पार्टी से करें गठबंधन?

भाजपा के पूर्व अध्यक्ष और केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह के पश्चिम बंगाल दौरे के बाद ममता बनर्जी खेमे में बेचैनी बढ़ गई है, ममता बनर्जी भाजपा के खिलाफ सम्पूर्ण विपक्ष को एकजुट करने के कवायद में जुटी हैं, वहीँ राष्ट्रीय जनता दल ( आरजेडी ) के नेता तेजस्वी यादव ने ममता को अकेले नहीं बल्कि गठबंधन करके चुनाव लड़ने की सलाह दी है. तेजस्वी ने ममता को उस पार्टी से गठबंधन करने की सलाह दी है जिसकी और टीएमसी के रिश्ते कभी बेहतर नहीं रहे हैं.

आरजेडी नेता तेजस्वी यादव ने कहा है कि बेहतर होगा अगर बंगाल में ममता बनर्जी लेफ़्ट और कांग्रेस के साथ मिलकर चुनाव लड़ें। तेजस्वी यादव ने कहा कि बिहार में हमारा लेफ्ट पार्टी के साथ गठबंधन था, ममता बनर्जी और टीएमसी के लोगों के साथ भी हमारे अच्छे सम्बन्ध हैं…तेजस्वी ने कहा कि बंगाल की जनता की भी ख्वाहिश होगी कि तीनों पार्टियां ( कांग्रेस, टीएमसी और लेफ्ट ) मिलकर चुनाव लड़ें तो ज्यादा बेहतर होगा।

आपको बता दें पश्चिम बंगाल की सत्तारूढ़ टीएमसी और लेफ्ट के बीच छत्तीस का आंकड़ा रहता है, ऐसे में दोनों पार्टियों के साथ आने की संभावनाएं कम हैं. हाँ! कांग्रेस और टीएमसी जरूर साथ आ सकती है, लेकिन इसकी भी बहुत ज्यादा संभावना नहीं है.

आपको बता दें कि दो दिवसीय दौरे पर बंगाल गए अमित शाह की मौजूदगी में टीएमसी के नौ विधायकों ने भाजपा का दामन थामा, इसमें ममता के सबसे ख़ास सुवेंदु अधिकारी भी रहे. सुवेंदु अधिकारी के टीएमसी छोड़ने से ममता को बड़ा झटका लगा. सुवेंदु 35 सीटों पर अपना रूतबा रखते हैं. इस झटके से उबरने के लिए ममता सम्पूर्ण विपक्ष को एकजुट करने की कवायद में जुटी हैं।

अपनी ताकत दिखाने के लिए ममता बनर्जी जनवरी में एक ‘एंटी बीजेपी संयुक्त रैली’ करने वाली हैं, इस रैली में एनसीपी प्रमुख शरद पवार, अरविन्द केजरीवाल और डीएमके अध्यक्ष एमके स्टालिन के पहुँचने की संभावना है।