शौकत अली को डपटकर भगाने वाले रोहित सरदाना को सुरजेवाला ने दिया इंटरव्यू तो भड़का लिबरल गिरोह

साभार - आजतक

हाल ही में पत्रकार रोहित सरदाना ने गोदी मीडिया की आधुनिक परिभाषा बताई थी, इस परिभाषा को सुनकर आगबबूला हुए लिबरल गिरोह के सदस्यों का दर्द कम भी नहीं हुआ था कि उससे पहले सरदाना ने एक बार फिर से गहरा दर्द दे दिया लिबरल गिरोह को, जी हाँ! दरअसल वरिष्ठ पत्रकार रोहित सरदाना आजतक पर एंकरिंग करने के साथ-साथ आजतक के फेसबुक पेज पर लाइव होते हैं और लोगों के सवालों का जवाब देते हैं.

एक दिन लाइव सेशन के दौरान शौकत अली नाम के एक यूजर ने सरदाना से सवाल पूछा, आपकी नजर में किसान खालिस्तानी हैं तो आपका नेता मोदी इन्हें जेल में क्यों नहीं डालता। इस सवाल का फ़्लैट जवाब देते हुए रोहित सरदाना ने कहा कि शौकत अली मोदी आपका भी नेता है, अगर नहीं हैं तो पतली से निकल ले यहाँ से. इस वीडियो के वायरल होने के बाद लिबरलों का सरगना रोहित सरदाना पर टूट पड़ा.

लिबरलों ने सोशल मीडिया पर बाकायदा रोहित सरदाना के खिलाफ प्रोपोगैंडा चलाया, मुस्लिम विरोधी का तबका दिया, यही नहीं! आजतक के चेयरपर्सन अरुण पुरी को टैग करके रोहित सरदाना की शिकायत भी की, लेकिन हुआ कुछ नहीं।

अब कांग्रेस के वरिष्ठ नेता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने कृषि कानून को लेकर आजतक न्यूज़ चैनल पर एंकर रोहित सरदाना को ही इंटरव्यू दे दिया, इस इंटरव्यू के बाद लिबरल गिरोह पूरी तरह से आगबबूला हो गया है.

सुरजेवाला ने अपने ट्वीट में लिखा, किसान आंदोलन आजीविका की लड़ाई है, रोजी रोटी की लड़ाई है, खेत खलिहान की लड़ाई है, जिंदगी की लड़ाई है। ये लड़ाई केवल 62 करोड़ किसानों की नहीं बल्कि देश के 130 करोड़ लोगों की है। आजतक पर किसान पंचायत में रोहित सरदाना के साथ साक्षात्कार।

सुरजेवाला के इस ट्वीट को रीट्वीट करते हुए पत्रकार रोहिणी सिंह ने लिखा, अल्पसंख्यकों के अल्पसंख्यकों के खिलाफ जहर उगलने वाले एंकरों का समर्थन, कांग्रेस नेताओं द्वारा लगातार जारी है, न्यूज़-24 छोड़कर युट्यूबर बनी साक्षी जोशी ने लिखा, ये लोग कभी नहीं सुधरेंगे, जाएंगे वहीँ। ये दोनों महिला पत्रकार लिबरल गिरोह की अहम सदस्य हैं। डिजिटल मीडिया द वायर की पत्रकार रोहिणी सिंह वामपंथी विचारधारा वाले लोगों की पहली पसंद हैं।