8 दिसंबर को भारत बंद करेंगे किसान, कांग्रेस समेत कई पार्टियां दे रही हैं समर्थन!

पिछले लगभग 11 दिनों से कृषि कानून के विरोध में प्रदर्शन कर रहे किसानों ने आगामी 8 दिसंबर, 2020 को भारत बंद बुलाया है, किसानों द्वारा बुलाये गए भारत बंद को कई राजनैतिक पार्टियाँ समर्थन दे रही हैं. जिसमें मुख्य रूप से कांग्रेस शामिल है, इसके अलावा तेलंगाना राष्ट्र समिति ( टीआरएस ) और आम आदमी पार्टी, तृणमूल कांग्रेस, राष्ट्रीय लोक दल, राजद, राष्ट्रीय लोक समता पार्टी (रालोसपा) और सपा ने भी भारत बंद का समर्थन किया है। लेफ्ट पार्टियों में सीपीआई, सीपीआईएम, सीपीआई (एमएल), RSP और ऑल इंडिया फॉरवर्ड ब्लॉक ने भी बंद का समर्थन किया है।

तीनों पार्टियों ने कहा है कि ‘भारत बंद’ में उनकी भागीदारी रहेगी। कृषि कानूनों को वापस लेने की मांग को लेकर राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली की विभिन्न सीमाओं पर 26 नवंबर से डटे हजारों किसानों के प्रतिनिधियों ने कहा है कि आठ दिसंबर को पूरी ताकत के साथ ‘भारत बंद’ किया जाएगा।

कांग्रेस के राष्ट्रीय प्रवक्ता पवन खेड़ा ने कहा कि कांग्रेस ने 8 दिसंबर को भारत बंद का समर्थन करने का फैसला किया है। उन्होंने कहा कि हम अपने पार्टी कार्यालयों पर भी प्रदर्शन करेंगे। राहुल गांधी का ये कदम किसानों के आंदोलन को और मजबूत करेगा। हम यह सुनिश्चित करेंगे कि प्रदर्शन सफल रहे। बता दें कि दूसरे राज्यों के किसानों ने भी भारत बंद के लिए अपना समर्थन दिया है। कर्नाटक के किसानों ने भी इस आंदोलन के लिए अपना समर्थन जाहिर किया है।ऑल इंडिया किसान संघर्ष कोऑर्डिनेशन कमिटी के बैनर तले बुलाए गए भारत बंद में देशभर के 400 से ज्‍यादा किसान संगठन शामिल हैं।