देश की अर्थव्यवस्था तबाह करने में सफल हो रहे आंदोलनकारी किसान, अबतक 70 हजार करोड़ का नुकसान

kisan-andolan-economy-loss-daily-rs-3500-crore

नई दिल्ली: कृषि कानून के विरोध में आंदोलनकारी किसान करीब 20 दिन से धरना दे रहे हैं और कई रोड जाम करके बैठे हैं, इन किसानों ने प्लान बनाया है कि रोड जाम करके देश की अर्थव्यवस्था को इतना तबाह कर देंगे कि सरकार कृषि कानूनों को वापस लेने के लिए मजबूर हो जाएगी।

आंदोलनकारी किसानों का प्लान काफी कामयाब भी होता दिख रहा है, ASSOCIAM की रिपोर्ट के मुताबिक़ किसान आंदोलन से रोजाना 3500 करोड़ रुपये का नुकसान हो रहा है, इस हिसाब से अब तक करीब 70 हजार करोड़ रुपये का नुकसान हो चुका है.

अगर किसानों ने इसी तरह से रोड जाम किये रखा तो जल्द ही नुकसान का आंकड़ा लाखों करोड़ के पास पहुँच जाएगा और आंदोलनकारी किसान देश की अर्थव्यवस्था तबाह करने के अपने मकसद में कामयाब हो जाएंगे, हालाँकि आंदोलनकारी किसान भी अपनी जिद से मजबूर हैं, उन्हें पहले ऐसा लग रहा था कि उनके विरोध के चलते केंद्र सरकार कृषि कानूनों को वापस लेने के लिए बिवश हो जाएगी लेकिन केंद्र सरकार भी अपनी जिद छोड़ने को तैयार नहीं है.

केंद्र सरकार सोच रही है कि ये आंदोलनकारी किसान दो चार दिन धरना देकर टाइम पास करके चले जाएंगे लेकिन ऐसा कुछ नहीं हो रहा है, आंदोलनकारी किसान कह रहे हैं कि हमारे पास 6 महीनें का पूरा राशन है इसलिए हमें कोई दिक्कत नहीं है, हम जरूरत पड़ेगी तो 6 महीनें तक भी रोड पर बैठने को तैयार हैं.

ASSOCIAM का कहना है कि इस आंदोलन का जल्द ही समाधान ना निकाला गया तो देश की अर्थव्यवस्था को बहुत नुकसान हो जाएगा और देश के लिए यह ठीक नहीं होगा। अब देखते हैं कि इस समस्या का समाधान कब तक निकल पाता है.