कॉंग्रेसियों के चक्कर में न पड़े किसान, मोदी सरकार किसानों का अहित नहीं कर सकती: केशव प्रसाद मौर्या

कृषि कानून के विरोध में पिछले हफ्ते से पंजाब के किसान दिल्ली में विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं, कृषि कानून के विरोध में आंदोलन कर रहे किसानों से उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्या ने आंदोलन वापस लेनें की अपील की है, उन्होंने कहा कि मैं भी किसान का बेटा हूँ, कृषि कानून किसानों के खिलाफ नहीं है, कांग्रेस पार्टी एक साजिश के तहत किसानों को भड़का रही है कृषि कानून के खिलाफ।

भाजपा के दिग्गज नेता और उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्या ने कहा कि यूपी या देश के किसान आंदोलित नहीं है। किसान जानते हैं कि 6000 रु. उनके खाते में कांग्रेस ने नहीं मोदी जी के नेतृत्व वाली सरकार ने पहुंचाए हैं। किसानों से अपील है कि इन कांग्रेसियों के चक्कर में न पड़ें ये कांग्रेस किसान, कृषि और देश के विकास की विरोधी है।

इससे पहले केशव ने कहा था कि मैं किसान का बेटा होने के नाते देश और उत्तर प्रदेश के किसानों से अपील करता हूं कि इस प्रकार का आंदोलन कांग्रेस के द्वारा रची गई साजिश के अलावा कुछ नहीं है। कांग्रेस तो जन्मजात किसान विरोधी, गरीब विरोधी पार्टी है।

गैरतलब है कि कृषि कानून के विरोध में पंजाब के किसान पिछले लगभग एक हफ्ते से विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं, कुछ किसान दिल्ली में प्रवेश कर गए हैं तो कुछ दिल्ली बॉर्डर पर डटे हुए हैं. किसानों और सरकार के बीच लगभग तीन राउंड की बातचीत हो चुकी है लेकिन वो बेनतीजा रही।

आज फिर केंद्र सरकार और किसान के बीच बातचीत हो रही है, दिल्ली के विज्ञान भवन में दोपहर 12 बजे से शुरू हुई बातचीत अभी जारी है, खबर लिखने तक मीटिंग जारी है. किसानों की तरफ से 42 किसान संगठन के मुखिया शामिल हैं जबकि केंद्र सरकार की तरफ से केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर, पीयूष गोयल और एक अन्य मंत्री मौजूद हैं।

loading...