दिल्ली की शिक्षा व्यवस्था पर कपिल मिश्रा ने पूछे 10 सवाल, जवाब शायद ही दे पाएं सिसोदिया-केजरीवाल

दिल्ली की अरविन्द केजरीवाल सरकार यूँ तो दिल्ली में शिक्षा क्रांति को लेकर ढिंढोरा पीटती रहती है, टीवी पर खूब विज्ञापन देते हैं..लेकिन जमीनी हकीकत क्या है ये तो शायद दिल्ली वाले ही बता सकते हैं, दिल्ली की शिक्षा व्यवस्था को लेकर भाजपा नेता कपिल मिश्रा ने शिक्षा मंत्री मनीष सिसोदिया से 10 तीखे सवाल पूछ लिए हैं, जिसका जवाब शायद ही सिसोदिया-केजरीवाल दे पाएं।

आपको बता दें कि दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल के नेतृत्व वाली आम आदमी पार्टी ने 2022 में होने वाले उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव लड़ने का ऐलान किया है. केजरीवाल का कहना है कि शिक्षा, स्वास्थ्य के मुद्दे पर हम चुनाव लड़ेंगे। दिल्ली की शिक्षा व्यवस्था को लेकर यूपी के मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह से बहस करने के लिए दिल्ली के शिक्षा मंत्री मनीष सिसोदिया लखनऊ पहुंचे हैं..उससे पहले कपिल मिश्रा ने दिल्ली की शिक्षा व्यवस्था की पोल खोलते हुए सिसोदिया पर 10 सवाल दाग दिए हैं. नीचे आप सवाल देख सकते हैं।

कपिल मिश्रा ने ट्वीट कर कहा है कि मनीष सिसोदिया से दिल्ली की फेल शिक्षा व्यवस्था पर 10 सीधे सवाल। इससे पहले मनीष सिसोदिया आप यूपी की जनता से झूठ बोले, मेरी ये चुनौती है कि इन दस सवालो का जवाब जनता को दीजिये। कपिल मिश्रा ने आरोप लगाया है दिल्ली में शिक्षा क्रांति नहीं “विज्ञापन क्रांति” की गई है…इसके अलावा कपिल मिश्रा ने दावा किया है कि दिल्ली में जबसे केजरीवाल सरकारी आई है तबसे दिल्ली में एक भी सरकारी स्कूल नहीं बने हैं, हाँ स्कूलों में कुछ नए कमरे जरूर बनें हैं.

कपिल मिश्रा का कहना है कि 70 फीसदी स्कूलों में प्रिंसिपल का पद खाली है, 96 फीसदी स्कूलों में अध्यापकों की कमी है, 76 फीसदी स्कूलों में पीने के पानी का कनेक्शन तक नहीं है, दिल्ली के सरकारी स्कूलों में खेल के मैदान में 62 फीसदी की कमी है. क्या इसी को शिक्षा क्रांति कहा जाता है..अब देखना यह दिलचस्प होगा कि मनीष सिसोदिया कपिल के इन सवालों का जवाब देते हैं या नहीं।