जालिम औरंगजेब द्वारा शहीद किये गए थे गुरु तेगबहादुर सिंह, गुरुद्वारा पहुंचकर MODI ने किया नमन

guru-teg-bahadur-singh-killed-by-aurangjeb-hindi-news

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज सुबह दिल्ली के रकाबगंज साबित गुरुद्वारा पहुंचे और हिंदुस्तान के महान व्यक्ति एवं शहीद गुरु तेग बहादुर सिंह के आगे शीश झुकाकर नमन किया। इसी स्थान पर गुरु तेगबहादुर का अंतिम संस्कार किया गया था इसलिए इस स्थान की लोग पूजा करते हैं।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने खुद ट्वीट करके इस बात की जानकारी दी, उन्होंने लिखा – आज सुबह, मैंने ऐतिहासिक गुरुद्वारा रकाब गंज साहिब में प्रार्थना की, जहां श्री गुरु तेग बहादुर जी के पार्थिव शरीर का अंतिम संस्कार किया गया था। मुझे बेहद गर्व महसूस हुआ। मैं, दुनिया भर के लाखों लोगों की तरह, श्री गुरु तेग बहादुर जी की दयालुता से बहुत प्रेरित हूं।

गुरु तेग बहादुर सिंह के बारे में कुछ अद्भुत जानकारी 

गुरु तेगबहादुर सिंह जी महान इंसान थे, उनका जन्म 1 अप्रैल 1621 को हुआ था और उनका स्वर्गवास 19 दिसंबर 1675 को हुआ। वह हिंदुस्तान के 9वें गुरु थे, उनका जन्म अमृतसर में हुआ था और वह गुरु हरगोविंद सिंह के सबसे छोटे बेटे थे।

गुरु तेगबहादुर सिंह बहुत तेजश्वी और बहादुर थे, जालिम औरंगजेब पर सभी हिन्दुस्तानियों को मुस्लिम बनाने की सनक सवार थी लेकिन गुरु तेग बहादुर सिंह ने इस्लाम स्वीकार करने से साफ़ इंकार कर दिया जिससे नाराज होकर औरंगजेब ने उनका सर कलम करवा दिया।

गुरु तेग बहादुर सिंह ने शहादत देकर लाखों लोगों की जिंदगी बचा ली और धर्म की रक्षा की, इसीलिए आज पूरा देश उनकी पूजा करता है। वह देश के इस्लामीकरण के खिलाफ एक मजबूत दीवार बनकर खड़े हुए थे, जिसे उस वक्त का जालिम शासक औरंगजेब देख ना सका और उनका सरेआम क़त्ल करवा दिया। यह देश गुरु तेगबहादुर सिंह की कुर्बानी को हमेशा हमेशा के लिए याद रखता है कर उन्हें नमन करता है।