‘कृषि कानून’ का समर्थन कर इस किसान ने खोल दी आंदोलनकारी किसानों और कांग्रेस की पोल: वीडियो

एक तरफ दिल्ली बॉर्डर पर कृषि कानून के विरोध में पंजाब, पश्चिमी उत्तर प्रदेश और हरियाणा के कुछ किसान संगठन विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं तो वहीँ अब कृषि कानून के समर्थन में भी किसान अपनी आवाज बुलंद करने लगे हैं, सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हो रहा है जिसमें कृषि कानून का समर्थन करते हुए एक किसान ने कांग्रेस और आंदोलनकारी किसानों की पोल खोलकर रख दी।

सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे वीडियो में एक किसान कहता हुआ सुनाई दे रहा है कि ‘हमारे गाँव में 52 हजार बीघे का कृषि जोत है’, हम सब किसान नए कृषि कानून का समर्थन कर रहे हैं।, हम सब किसान गन्ना उत्पन्न करते हैं, हर चीज की खेती करते हैं, कृषि कानून समर्थक किसान ने आगे कहा कि एक भी त्यागी, एक भी सोनार, एक भी कोंहार, एक भी लोहार, एक भी कश्यप कृषि कानून के विरुद्ध हो रहे आंदोलन में नहीं जुड़ा है. ये एक जाति विशेष का आंदोलन है, जाती विशेष सरकार से खफा है, उनकी अपनी पार्टियां हैं. उन्हें राजनितिक लोग सपोर्ट कर रहे हैं।

कांग्रेस की पोल खोलते हुए किसान ने कहा कि अडानी ने बताया 2005 में FCI गोदाम मिला था पंजाब में, किसान ने कहा कि 2005 में कैप्टन अमरिंदर थे पंजाब के कांग्रेसी मुख्यमंत्री और प्रधानमंत्री थे कांग्रेस के डॉ मनमोहन सिंह, उन्होंने अडानी को दिया, अब मोदी का नाम ले रहे हैं. किसान ने कहा कि उद्योगपति भी हमारे भाई हैं और किसान भी हमारे भाई हैं।


सड़क जाम कर बैठे किसानों पर सवाल उठाते हुए कृषि कानून समर्थक किसान ने कहा कि किसान सड़क थोड़ी जाम करता है, किसान तो सीधा लोगों को आनाज उत्त्पन्न करके देने वाली कौम है, किसान ने सरकार की तारीफ करते हुए कहा कि सरकार दो-दो हजार रूपये खाते में डाल रही है, बढ़िया गन्ना बिक रहा है, पेमेंट आ रहा है, सुख समृद्धि है, हमारे बच्चे पढ़ रहे हैं, आतंकवदियों की कमर टूट रही है, राम मंदिर बन रहा है, 370 हट गई, फ्लाईओवर बन रहा है, ये सब भी तो पैसे से बन रहे हैं, हमारे योगदान से बन रहे हैं. अगर हम ही फ्लाईओवर रोक के बैठ जाएँ और नाजायज मांग मनवाने लगें, ऐसा नहीं चलेगा।